बंद होने वाले हैं आपके ATM कार्ड, इस दिन से पहले जरूर कर लें अपडेट

लाइव सिटिज डेस्क : क्या आपको बैंक की ओर से अपना ATM कार्ड (डेबिट कार्ड) और क्रेडिट बदलने का मैसेज मिला है. अगर मिला है तो आप सोच रहे होंगे कि ऐसा क्यों हो रहा है? आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है. ऐसे मैसेज लाखों ग्राहकों को मिले हैं. बैंकों ने ये मैसेज उन्हें भेजे हैं, जिन्होंने अपने पुराने मैगनेटिक स्ट्रिप वाले कार्ड को नए ईएमवी (यूरोपे-मास्टरकार्ड-वीसा) वाले कार्डों से बदला या फिर अपडेट नहीं किया है.

आपको बता दें कि देश में इस वक्‍त दो तरह के डेबिट और क्रेडिट कार्ड चलन में हैं. एक मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप वाला और दूसरा चिप वाला. लेकिन अब बैंक ग्राहकों से अपना मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड चिप वाले कार्ड से जल्‍द से जल्‍द रिप्‍लेस करने की अपील कर रहे हैं. यह कार्ड बैंक फ्री में बदल रहे है. इसके लिए RBI ने आदेश जारी किया है. जिसकी डेडलाइन 31 दिसंबर 2018 है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, पुराने मैगनेटिक स्ट्रिप वाले कार्ड 31 दिसंबर के बाद वैध नहीं रहेंगे. RBI की ओर से जारी आंकड़ों में बताया गया है कि जून 2018 तक देश में 94.4 करोड़ एटीएम कार्ड (डेबिट कार्ड) जारी हुए. इसमें कुल 3.94 करोड़ कार्ड एक्टिव है.

बता दें कि आरबीआई ने पहले सभी बैंकों को ईएमवी बेस्ड कार्ड जारी करने को कहा था. सेंट्रल बैंक के डाटा के अनुसार, देश में 39.4 मिलियन एक्टिव क्रेडिट कार्ड और 944 मिलियन एक्टिव डेबिट कार्ड मौजूद हैं.

ग्राहकों को अपने कार्ड में बदलाव करने के लिए इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि नए ईएमवी कार्ड्स में बेहतर सिक्योरिटी मिलेगी. यह देश में बढ़ते एटीएम फॉर्ड्स को रोकने के लिए है. सीबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के एमडी और सीईओ हरदयाल प्रसाद का कहना है कि नई ईएमवी तकनीक कई तरह के फ्रॉड्स को रोकेगी. इसमें स्किमिंग, क्लोनिंग शामिल है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*