बेटी ने संभाली पिता की विरासत, निसाबा के हाथ 66 हजार करोड़ रुपए का गोदरेज समूह

nisaba-godrej

लाइव सिटीज डेस्क : वेटरन इंडस्ट्रियलिस्ट आदि गोदरेज ने मंगलवार को गोदरेज ग्रुप की फ्लैगशिप फर्म गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स की कमान अपनी बेटी निसाबा को सौंप दी. 39 साल की निसाबा इतने बड़े आकार की कंपनी संभालने वाली सबसे युवा महिला होंगी.

उनके 75 वर्षीय पिता आदि गोदरेज कंपनी के मानद चेयरमैन बने रहेंगे. उन्होंने 17 वर्ष कंपनी के शीर्ष पद की जिम्मेदारी संभाली है और अब वह यह अपनी छोटी बेटी को सौंप रहे हैं. मौजूदा समय में निसाबा कंपनी की कार्यकारी निदेशक हैं और 10 मई 2017 से वह कार्यकारी चेयरपर्सन का पद संभालेंगी.

निसाबा की बड़ी बहन तान्या डुबाश गोदरेज समूह की कार्यकारी निदेशक एवं मुख्य ब्रांड अधिकारी हैं जबकि उनके छोटे भाई पिरोजशा गोदरेज गोदरेज प्रॉपर्टीज के कार्यकारी चेयरमैन हैं. कंपनी ने एक बयान में बताया कि आदि गोदरेज कंपनी के निदेशक मंडल में बने रहेंगे और विवेक गंभीर प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पद पर काम करना जारी रखेंगे.


निसाबा ने पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय के द व्हार्टन स्कूल से स्नातक और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से  मास्टर ऑफ बिजनेस की डिग्री पूरी की है. उन्होंने रीयल एस्टेट उद्यमी कल्पेश मेहता से शादी की है और उनका एक बच्चा है.

2007 में निसाबा की कंपनी के शुरू किए गए प्रोजेक्ट लीपफ्रॉग के पीछे अहम भूमिका रही थी, जिससे गोदरेज ग्रुप की ग्रोथ को रफ्तार मिली. इस दौरान जीसीपीएल की मार्केट कैपिटलाइजेशन 20 गुना बढ़कर 3 हजार करोड़ रुपए से 66 हजार करोड़ रुपए हो गई. गोदरेज कंज्यूमर का स्टॉक आज के कारोबार के दौरान 11 फीसदी तक चढ़ गया.

यह भी पढें – SC ने माना विजय माल्या को अवमानना का दोषी, 10 जुलाई तक पेश होने का आदेश
साथ हुए एयरटेल और ओला, यूजर्स को मिलेंगे ये फायदे...

स्टॉक में ये तेजी चौथे क्वार्टर में कंपनी के नतीजे अनुमान से बेहतर आने की वजह आई है. चौथे क्वार्टर में कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट पिछले साल समान क्वार्टर में 125 करोड़ रुपए की तुलना में बढ़कर 390 करोड़ रुपए रहा. साल दर साल आधार पर कंपनी के कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट में 212 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. अनुमान से बेहतर नतीजे आने के बाद कंपनी ने 12 रुपए प्रति शेयर अंतरिम डिविडेंड देने की घोषणा की.