लाइव सिटीज डेस्क : केंद्र सरकार के आश्वासनों के बाद भी शेयर बाजार नहीं संभल रहा है. शेयर बाजार लगातार झटका दे रहा है. इस झटके से निवेशक सहमे हुए हैं. उनके लाखों-करोड़ों अटक गये हैं. एक्सपर्ट की मानें तो बुधवार को सेसेंक्स और निफ्टी लगातार 7वें दिन भी टूटी. लेकिन हद तो यह है कि डॉलर की तुलना में रुपया भी छह माह के निचले स्तर पर चला गया है.

उधर भारत विश्व आर्थिक मंच के वैश्विक प्रतिस्पर्धात्मकता सूचकांक में एक स्थान नीचे खिसक गया है. मंच की ओर से जारी वैश्विक प्रतिस्पर्धात्मकता रिपोर्ट में कुल 137 अर्थव्यवस्थाओं के बीच यह आकलन किया गया है. इसमें स्विट्जरलैंड टॉप पर है, जबकि अमेरिका व सिंगापुर क्रमश: दूसरे और सिंगापुर तीसरे स्थान पर है. इस रिपोर्ट में भारत 40वें स्थान पर आ गया है. बता दें कि इसके पहले भारत इस लिस्ट में 39वें स्थान पर था. खास बात कि इसी लस्ट में पड़ोसी देश चीन 27वें स्थान पर है.

इधर बता दें कि शेयर मार्केट का लगातार सात दिनों गिरना जारी है. यह गिरावट बुधवार को भी जारी रही. एक्सपर्ट की मानें तो बीते सात दिनों में सेंसेक्स 3.83 परसेंट गिरा है. वहीं निफ्टी में भी 3.96 परसेंट की गिरावट आई है. मार्केट में जारी इस गिरावट के पीछे विदेशी निवेशकों की ओर से जारी बिकवाली और रुपये को मुख्य कारण माना जा रहा है. बुधवार को सेंसेक्स 439 अंक की गिरावट के साथ 31159 तथा निफ्टी 135 अंक टूटकर 9735 के स्तर पर शेयर मार्केट बंद हुआ.

इतना ही नहीं, गिरावट का यह दौर आज रुपये में भी रहा. रुपया 6 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया. बताया जाता है कि बुधवार के कारोबार में डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपया 10 पैसे की मजबूती के साथ खुले थे, लेकिन कुछ मिनटों के बाद ही गिरावट देखने को मिली. भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले 27 पैसे की कमजोरी के साथ 65.7 के स्तर पर आज का कारोबार रहा. कारोबार के दौरान रुपये ने 6 महीने का निचला स्तर छुआ है.

यह भी पढ़ें- खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में 
लालू-तेजस्वी को फिर CBI का समन, पू्छताछ के लिए 3-4 अक्टूबर को बुुलाया दिल्ली 
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)