GST इफेक्ट : SBI ने बदले हैं कुछ नये नियम, आप पर होंगे ये असर

sbi

लाइव सिटीज डेस्क : देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने GST लागू होने के बाद अपने कुछ नियमों और फीस में परिवर्तन किया है. यदि आपका भी SBI में खाता है तो इन नियमों से जल्द से जल्द वाकिफ हो जाएं ताकि किसी प्रकार की दिक्कत न हो.

1 जुलाई से जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) देशभर में लागू हो जाने के बाद बैंकों द्वारा जिन चार्जेस को बढ़ाया गया है उनका भार कुल मिलाकर कस्टमर पर ही पड़ रहा है. आप भी पढ़ लें क्या-क्या बदलाव हो रहा है.

sbi

अब आपको देना होगा 18 फिसदी सर्विस टैक्स

एसबीआई के बैंक की सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए अब आपको 18 प्रतिशत सर्विस चार्ज देना होगा. वहीं इससे पहले एसबीआई अपने कस्टमर्स से 15 प्रतिशत तक सर्विस चार्ज लेता था. जीएसटी के लागू होने के बाद 3 प्रतिशत तक सर्विस चार्ज बढ़ा दिए हैं.

एटीएम विड्रॉल के दौरान भी कटेगा ज्यादा पैसा

सेविंग अकाउंट वाले जो एसबीआई मोबाइल एप बैंक बडी (State Bank Buddy) का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उनको प्रति टांजैक्शन के लिए 25 रुपये देना होगा. आपको बता दें कि इसके बाद जीएसटी भी अलग से लगेगा. मतलब विड्रॉल के दौरान 25 प्लस जीएसटी चार्ज देना होगा.

ऑनलाइन ट्रांसफर पर भी कटेगा पैसा

अगर आप एक लाख रुपये तक ऑनलाइन (IMPS) पैसा ट्रांसफर कर रहे हैं तो इसके लिए आपको 5 रुपये प्लस टैक्स देना होगा. वहीं अगर आप 1 से 2 लाख रुपये तक पैसा ऑनलाइन ट्रांसफर कर रहे हैं तो इसके लिए आपको 15 रुपये प्लस टैक्स अदा करना होगा और अगर आपका ऑनलाइन ट्रांसफर अमाउंट 2 से 5 लाख रुपये हैं तो इसके लिए आपको 25 रुपये के साथ टैक्स देना होगा.

खराब नोट बदलने पर भी लगेगा पैसा

एसबीआई के अनुसार अगर आप 20 से ज्यादा खराब नोट्स या 5000 से ज्यादा रुपये तक के नोट्स बदलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 2 रुपये और साथ में टैक्स भी देना होगा. हालांकि बैंक अनुसार बाकि जितने भी नॉर्मल सेविंग बैंक अकाउंट्स हैं, उनके लिए एटीएम विड्रॉल की सेवाएं यथावत रहेगी.

यह भी पढ़ें – 11 जुलाई को ही कर लें टंकी फुल, 12 को बंद रहेंगे बिहार के सभी पेट्रोल पंप

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*