रेल टिकट बुक करें और बाद में दें पैसे, IRCTC की नई सर्विस की शुरुआत

irctc

लाइव सिटीज डेस्क : देश भर में रेलवे टिकट ऑनलाइन बुक करने का चलन बढ़ा है. हालांकि अभी भी कई लोग ऐसे हैं जो किसी ऑनलाइन फ्रॉड की डर से इस माध्यम से पेमेंट नहीं करना चाहते हैं. अब ऐसे लोगों के लिए भी रेलवे समाधान लेकर आई है. रेलवे की कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग ऐंड टूरिजम कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने देशभर के छह सौ शहरों में ‘पे ऑन डिलीवरी’ नामकी सर्विस शुरू करने का एलान किया है, जिसके अंतर्गत लोग ऑनलाइन टिकट बुक कर घर पर टिकट की डिलीवरी करा सकेंगे और फिर पेमेंट कर सकेंगे.



IRCTC के एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक, यह सुविधा उन लोंगों के लिए है जो ऑनलाइन टिकट तो बुक कराना चाहते हैं लेकिन ऑनलाइन पेमेंट करने से बचते हैं. ऐसे लोंगों को उनके घर पर ही टिकट भेजा जाएगा और वहीं टिकट की राशि नकद ली जाएगी.

irctc

ऐसे मिलेगी सुविधा

‘पे ऑन डिलीवरी’ की इस सुविधा के लिए एक बार अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा और इस रजिस्ट्रेशन के वक्त पैन कार्ड और आधार कार्ड देना होगा. इसके बाद कभी भी आईआरसीटीसी की वेबसाइट या फिर मोबाइल ऐप से टिकट बुक कराया जा सकेगा. यह टिकट यात्रा से कम-से-कम पांच दिन पहले बुक कराना होगा. इसके लिए तय किया गया है कि अगर टिकट की कुल राशि पांच हजार रुपये से कम है तो पैसेंजर को उसके लिए 90 रुपये और सर्विस चार्ज पे करना होगा. अगर टिकट की राशि पांच हजार से अधिक है तो पैसेंजर को इस सुविधा के लिए चार्ज के रूप में 120 रुपये एवं सर्विस चार्ज देना होगा. आईआरसीटीसी का कहना है कि फिलहाल यह सुविधा चार हजार पिन कोड वाले शहरों में लागू की गई है.

धोखाधड़ी से भी निपटने का उपाय

‘पे ऑन डिलीवरी’ में कोई धोखाधड़ी न हो इसके लिए आईआरसीटीसी ने कुछ शर्तें भी रखी हैं और इस पूरी प्रक्रिया को सिबिल से भी जोड़ा है ताकि अगर कोई आईआरसीटीसी के साथ धोखाधड़ी करने का प्रयास करे तो उसके खिलाफ ऐक्शन लिया जा सके. सिबिल को जोड़ने का मकसद यही है कि अगर कोई धोखाधड़ी करता है या इसकी कोशिश करता है तो उसकी यह कोशिश सिबिल के रेकॉर्ड में दर्ज हो जाएगी. इससे भविष्य में उसके लिए लोन आदि लेने में दिक्कत आ सकती है.