आधार से नहीं किया लिंक, तब भी 1 जुलाई से आपका PAN रिजेक्ट नहीं होगा

लाइव सिटीज डेस्क : इन दिनों अगर आप भी अपने पैन कार्ड और आधार को एकदूसरे से लिंक करने को लेकर परेशान हैं, तो अब आप रिलैक्स हो सकते हैं. ज्यादातर लोग सोच रहे हैं कि 1 जुलाई से पहले अपने पैन को आधार से लिंक नहीं करने पर उनका पैन अवैध हो जाएगा. यह सच तो है लेकिन इतना नहीं जितना लोग समझ रहे हैं. दरअसल, जुलाई से पैन से आधार को लिंक करना अनिवार्य हो जाएगा, लेकिन 1 जुलाई से पहले अनिवार्य नहीं है.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया किआ एक खबर के अनुसार यदि आप 1 जुलाई से पहले लिंक नहीं कर पा पाते हैं तो आपका पैन खुद से अवैध नहीं होगा. खबर है कि 1 जुलाई के बाद केंद्र सरकार एक तारीख की घोषणा कर सकती है, जिसके बाद आधार से नहीं जुड़ा पैन अवैध हो जाएगा. सरकार ने अभी तक उस तारीख का ऐलान नहीं किया है.

नए इनकम टैक्स ऐक्ट के अनुसार जिस भी व्यक्ति के पास 1 जुलाई, 2017 से पहले पैन कार्ड है और आधार कार्ड हासिल करने के योग्य है, उसे तय नियमों के अनुसार दोनों को लिंक करना होगा. केंद्र सरकार की ओर से इस संबंध में जारी की गई अधिसूचना के अनुसार संबंधित लोगों को यह प्रक्रिया पूरी करनी होगी. यदि पैन कार्ड धारक तय समय के भीतर आधार नंबर का उल्लेख नहीं करते हैं तो सरकार की ओर से तय की गई अवधि के बाद वह अमान्य हो जाएगा.

इस एक्ट में यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि जिस तारीख ‘पर या इससे पहले’ आधार का पैन से जुड़ना जरूरी है, उसे केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित किया जाना चाहिए. लेकिन 1 जुलाई से लिंकिंग अनिवार्य है. इसलिए आपको नए PAN के आवंटन और ITR के लिए आवेदन पत्र में आधार नंबर देना होगा.

गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फाइनेंस बिल 2017-18 के टैक्स प्रस्तावों में संशोधनों के जरिये आयकर रिटर्न दाखिल करने के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया था. इसके अलावा पैन को आधार के साथ जोड़ना भी अनिवार्य किया गया था, जिससे कई पैन कार्ड के इस्तेमाल के जरिए टैक्स की चोरी को रोका जा सके.

पटना में पहली बार 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट, निर्माण तेजी में, कीमत 9 लाख से स्‍टार्ट

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने आयकर कानून के उस प्रावधान को उचित ठहराया था जिसमें पैन कार्ड आवंटन तथा आईटी रिटर्न दाखिल करने के लिए आधार को अनिवार्य किया गया है. हालांकि शीर्ष अदालत ने संविधान पीठ द्वारा इस मुद्दे को निपटाने तक इस पर आंशिक स्थगन दिया है.

यह भी पढ़ें –
अब DSP बन गए हैं ये इंस्पेक्टर, देखें नोटिफिकेशन
लालू बोले – नीतीश NDA में थोड़े चले गए हैं, हमारा साथ अटूट है
भागलपुर दंगा मामला : उम्रकैद काट रहे कामेश्वर यादव की सजा निरस्त