Uttar Pradesh : वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया 5 लाख करोड़ से अधिक का बजट

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : उत्तरप्रदेश की विधानसभा में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी की सरकार ने आज अपना चौथा पूर्ण बजट पेश किया. वित्त वर्ष 2020-21 के बजट प्रस्तावों व विनियोग विधेयक सहित कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को इस बजट में मंजूरी दी गई है. योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश का 5,12,860.72 करोड़ का बजट किया पेश किया. पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 के मुकाबले इस बार 33 हजार 159 करोड़ रुपये ज्यादा का बजट पेश हुआ. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पिछले साल के मुकाबले इस बार 6.50 फीसदी से ज्यादा का बजट पेश किया.

उत्तरप्रदेश सरकार की बजट में नई योजनाओं और पर्यटन पर विशेष जोर दिया गया है. अयोध्या में उच्च स्तरीय पर्यटक अवसंरचना के विकास के लिए 85 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है. अयोध्या हवाई अड्डे के लिए भी 500 करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है. साथ ही तुलसी स्मारक भवन के नवीनीकरण के लिए 10 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है.

काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ रुपये

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि वाराणसी में संस्कृति केंद्र की स्थापना के लिए भी 180 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है जबकि काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. वैदिक विज्ञान केंद्र के लिए 18 करोड़ रुपये का आवंट किया गया है. गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के लिए 25 करोड़ रुपये का प्रस्ताव है. इसके अलावा मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण बीमा के नाम से नई योजना के लिए 500 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं.

वित्त मंत्री ने बताया है कि इस वित्तीय वर्ष में जीएसटी और वैट से 91568 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है. वहीं आबकारी से 37500 करोड़, स्टांप एवं पंजीयन से 23197 करोड़ और वाहन कर से 8650 करोड़ रुपये का राजस्व मिलने का लक्ष्य राज्य सरकार ने तय किया है.

ये है योगी सरकार के बजट के अन्य अहम प्वाइंट्स

– गांवों में जल जीवन मिशन के लिए 3000 करोड़ रुपये आवंटित

– अटल आवासीय विद्यालय के लिए 270 करोड़ रुपये और केजीएमयू के लिए 919 करोड़ रुपये

– युवाओं को अपना कारोबार शुरू करने के लिए युवा हब योजना

– गंगा एक्सप्रेस वे के लिए 2000 करोड़ रुपये आवंटित

– मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के लिए 100 करोड़ रुपये. इसके तहत युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान 2500 का स्टाइपेंड दिया जाएगा.

– कन्या सुमंगला योजना के लिए 1200 करोड़ आवंटित

– पीडब्लूडी पूर्वांचल निधि में 300 और बुंदेलखंड निधि में 210 करोड़ आवंटित

– दिल्ली से मेरठ के बीच रैपिड ट्रांजिट सिस्टम के लिए 900 करोड़ आवंटित

– आगरा मेट्रो के लिए 286 करोड़, कानपुर मेट्रो के लिए 358 करोड़ आवंटित

– ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रमों के लिए 3000 करोड़ आवंटित

अररिया : 21 फरवरी को कन्हैया कुमार स्टेडियम मैदान में जनसभा को संबोधित करेंगे