लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: इंडियन रेलवे ने महिलाओं को शानदार तोहफा दिया है. जी हां, महिला यात्रियों की सुविधा में अब कोई कोताही नहीं बरती जाएगी. बता दें कि रेलवे बोर्ड ने अपने नए निर्देशों के मुताबिक यह आदेश दिया है कि महिला कोटे के तहत एसी-3 में आरक्षित सीटों की संख्या बढ़ा कर छह कर दी गयी है. बता दें कि नए निर्देशों के अनुसार राजधानी, दूरंतो, गरीब रथ जैसी पूर्णत: वातानुकूलित ट्रेनों के एसी-3 में अब छह सीटें आरक्षित होंगी. इन ट्रेनों में पहले चार सीटें ही आरक्षित होती थीं. इस संबंध में सभी जोनल रेलवे को निर्देश भी जारी कर दिये गये हैं.

वर्तमान में मेल-एक्सप्रेस ट्रनों की स्लीपर श्रेणी और गरीब रथ ट्रेनों में छह बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित हैं, चाहे वह अकेली हों या महिला समूह में. वहीं, सभी ट्रेनों में स्लीपर श्रेणी में सभी कोचों में छह लोअर बर्थ के साथ-साथ एसी-2 और एसी-3 में तीन लोअर बर्थ वरिष्ठ नागरिकों, 45 वर्ष या इससे अधिक उम्र की महिला यात्रियों और गर्भवती महिलाओं के लिए आरक्षित हैं.

जबकि, राजधानी, दूरंतो और गरीब रथ ट्रेनों की एसी-3 के प्रत्येक कोच में चार लोअर बर्थ आरक्षित हैं. जबकि मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में तीन लोअर बर्थ आरक्षित होती हैं.

महिलाओं के लिए बनाया गया ऐप : 

इतना ही नहीं रेलवे महिला यात्रिओं की सुरक्षा की दृष्टि से जल्द ही एक ऐप शुरू करने वाला है. इस ऐप की मदद से महिलाओं को सिर्फ एक डाउनलोड करना होगा. इस ऐप में एक हेल्प ऑप्शन है. अगर यात्रा के दौरान कभी कोई दुर्व्यवहार की कोशिश करे तो महिला को केवल अपने ऐप पर हेल्प बटन दबाना होगा.