अनशन पर बैठे मृत्युंजय तिवारी की तबीयत बिगड़ी

moinul
पटना (विकास पाण्डेय) : खिलाड़ियों की सरकारी नौकरी को लेकर शनिवार से आमरण अनशन पर बैठे बिहार प्लेयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय तिवारी की तबीयत सोमवार की सुबह से बिगड़ गई है. उनके सिर में तेज दर्द है और उल्टी हो रही है. गौरतलब है कि श्री तिवारी  बिहार सरकार के सामान्य प्रशासन एवं कला संस्कृति व युवा विभाग के पदाधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैया से क्षुब्ध होकर मोइनुल हक स्टेडियम के बाहरी परिसर में आमरण अनशन पर हैं. खिलाड़ियों का कहना है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट का हिस्सा उत्कृष्ठ खिलाड़ियों की नियुक्ति प्रक्रिया को बिहार के पदाधिकारियों ने ग्रहण लगा दिया है.
सभी खिलाड़ियों ने कहा कि विभागीय अधिकारी केवल आश्वासन दे रहे हैं. आश्वासन से कब तक काम चलेगा. खिलाड़ियों का कहना है कि उन्हें उम्मीद थी कि जल्द ही कोई ठोस निर्णय सरकार के द्वारा लिया जाएगा. लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. श्री तिवारी की तबीयत बिगडने की सूचना के बाद भी न तो विभाग से कोई आया और न डाॅक्टर को भेजा गया. प्रदेश में खिलाड़ियों के साथ ऐसा दोयम व्यवहार क्यों? उनका कहनाहै कि बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से उन्हें उम्मीद है. क्योंकि वे खुद एक खिलाड़ी रहे हैं.
moinul
बता दें कि पहले दिन बिहार प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे, भाई वीरेन्द्र विधायक रामानुज प्रसाद, विधायक पहुंचे थे. इन सबों ने श्री तिवारी से आमरण अनशन तोड़ने का अनुरोध किया था. साथ ही उन्होंने कहा था कि खिलाड़ियों की नियुक्ति प्रक्रिया पुनः अविलंब शुरू कराने हेतु मुख्यमंत्री से मिलेंगे. पर अबतक ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. श्री तिवारी का कहना जबतक खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र नहीं मिलता वे अनशन नहीं तोड़ेंगे.
यह भी पढ़ें – कृष्ण मोहन प्रसाद मेमोरियल बास्केटबॉल टूर्नामेंट का रंगारंग आगाज
पीयूष और गरिमा के नाम राज्य अंडर-13 शतरंज का खिताब