Birthday Special : क्रिकेट के भगवान के नाम दर्ज हैं कई खास रिकॉर्ड

sachin

लाइव सिटीज डेस्क : 24 अप्रैल, 1973 को मुंबई में पैदा हुए क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर आज 44 साल के हो गए हैं. सचिन ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में अनगितन रिकॉर्ड तोड़े और बनाए हैं. अपने आप में बैटिंग की किताब कहें जाने वाले सचिन रमेश तेदुलकर एक कंप्लीट बल्लेबाज हैं. सचिन के फैंस दुनिया भर में फैले हुए हैं. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में करीब 35,000 रन बनाने वाले सचिन तेंदुलकर के नाम शतकों का शतक दर्ज है.

महज 16 वर्ष की आयु में मैदान पर दिग्गजों को धूल चटाने वाले सचिन को आज पूरी दुनिया में क्रिकेट के भगवान के नाम से जाना जाता है. सचिन तेंदुलकर की बायोग्राफी फिल्म ‘सचिन ए बिलियन ड्रीम्स’ भी 26 मई को रिलीज होने वाली है. 2 मिनट 13 सेकेंड के इस वीडियो में आपको सचिन की जिंदगी की पूरी झलक देखने को मिलेगी.

खिलाड़ी से सांसद और अभिनेता बने पांच फुट पांच इंच के इस खिलाड़ी ने बड़े से बड़े बल्लेबाजी रिकॉर्ड को बौना साबित कर दिया. उन्होंने 200 टेस्ट मैचों में 53.78 के औसत से 15,921 रन बनाए हैं. इसके साथ ही टेस्ट मैच, अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में लगभग सभी कीर्तिमान स्थापित किए, जिनमें से अधिकांश आज भी उनके नाम हैं.

क्रिकेट को अलविदा कहने से पहले सचिन ने भारतीय टीम को 2011 में विश्वकप का नायाब तोहफा दिया, जिसका सभी देशवासी बहुत ही शिद्दत से इंतजार कर रहे थे. मास्टर ब्लास्टर सचिन ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे पहले दोहरा शतक जड़ कर अपने प्रशंसकों का एक बार फिर दिल जीतने में कामयाब रहे.

sachin

अपनी बल्लेबाजी से गेंदबाजों की नाक में दम करने वाले तेंदुलकर ने वन डे मुकाबले में सबसे ज्यादा रन (18,426 रन)
सबसे ज्यादा 49 शतक और टेस्ट में 51 शतक लगाए हैं. टेस्ट क्रिकेट में 13,000, 14,000 और 15,000 रन बनाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज सचिन सुनील गावस्कर को अपना आदर्श मानते हैं.

क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद तेंदुलकर को तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने राज्यसभा सदस्य नामित किया. खेल के क्षेत्र से राज्यसभा सदस्य चुने जाने वाले सचिन ने देश को एक बार फिर गौरवान्वित कर दिया. वन डे क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द सीरीज सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच अपने नाम करने वाले सचिन ने विश्व कप क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा रन, सबसे ज्यादा शतक, अर्धशतक बनाने का रिकार्ड अपने नाम किया है.

यह भी पढ़ें- सेरेना के होने वाले बच्चे पर किया भद्दा कमेन्ट, लगा बैन
‘फिनिशर धोनी’ ने खेली तूफानी पारी, बैटिंग के बारे में दिया ये बयान

अपार ख्याति, अरबों प्रशंसकों का प्यार और उपलब्धियों का अंबार लगाने के बावजूद सचिन की सबसे बड़ी पहचान बनी उनकी विवाद से दूर रहने वाली छवि है. असीम सफलताओं के बीच भी सचिन हमेशा जमीनी हकीकत से जुड़े रहे और क्रिकेट को पूरी खेल भावना से खेलते रहे.