गवर्नर हाउस से अनुराग को मिला यात्रा में मदद का आश्वासन

पटना (विकास पांडेय) : दिव्यांग एथलीट अनुराग चंद्रा और संतोष कुमार पुन: एक नए विश्व कीर्तिमान स्थापित करने हेतु साहसिक यात्रा की शुरुआत 21 जून से करने वाले हैं. ये दोनों एडवेंचर जर्नी पर दानापुर कैंट पटना से सियाचिन ग्लेशियर के लिए रवाना होंगे.


अनुराग के इस एडवेंचर जर्नी की तैयारियों और आने वाले व्यय का जायजा बुधवार को गवर्नर हाउस से लिया गया. अनुराग ने बताया कि आठ राज्यों से होते हुए सियाचिन पहुंचा जाता है. इस बीच रास्ते में कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है. इसे लेकर राज्य सरकार, खेल मंत्रालय, दिल्ली, प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मदद की मांग की थी. इसी कड़ी में गवर्नर हाउस से फोन पर व्यय और अन्य जरूरी आवश्यकताओं के संदर्भ में मदद देने का आश्वासन दिया गया.


अनुराग ने अपने यात्रा के संदर्भ में बताया कि हम दोनों का हौसला गुरु डॉ एम रहमान और मुन्ना जी बढ़ा रहे हैं. इन दोनों ने पहले भी इनकी हौसला बढ़ाई है. इन दोनों ने एडवेंचर जर्नी पर जाने वाले लोगों को आर्थिक मदद भी दी. डॉ रहमान ने बताया की इस यात्रा का खर्च गुरुकुल वहन कर रहा है. दोनों खिलाड़ियो को गुरुकुल ने गोद लिया है.बिहार का नाम रौशन करने वाले दिव्यांग खिलाड़ियों को अपेक्षित सहयोग के लिए राज्यवासियों से भी अपील की गयी है.

पहले भी बनाया है विश्व कीर्तिमान

दिव्यांगता को चुनौती देने वाले अनुराग ने वर्ष 2015 में भी अपने साथी संतोष मिश्रा के साथ दिल्ली से लेह तक 1267 किलामीटर की यात्रा कर विश्वकीर्तिमान बनाया था. यह कीर्तिमान अनुराग ने ट्राईसाइकिल से और संतोष ने साइकिल चलाकर बनाई थी. जबकि इस बार यह यात्रा स्कूटी से पूरी करेंगे.