सीरीज जीत कर सुस्त पड़ गई इंडिया, चौथा वन डे हाथ से फिसला, 21 रन से गंवाया मैच

लाइव सिटीज डेस्क: भारत पांच मैचों की सीरीज को 3—0 से जीतने के बाद क्लिन स्वीप करने के इरादे से आज उतरी थी लेकिन भारत के मंसूबों पर आज पानी फिर गया. भारतीय बल्लेबाजों की गलतियां आखिरकार भारी पड़ गई. भारत के खिलाफ चौथे वन डे मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने डेविड वॉर्नर और एरोन फिंच की अच्छी बल्लेबाजी के दम पर 5 विकेट खोकर 334 रन का टार्गेट दिया.

भारत की शुरूआत भी कोई बुरी नहीं रही. रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ने अच्छी शुरूआत दी. रहाणे व रोहित ने पहले विकेट के लिए 106 रन की साझेदारी की. भारत को पहला झटका रहाणे के विकेट के तौर पर लगा. उन्होंने 53 रन की बेहतरीन पारी खेली लेकिन रिचर्डसन की गेंद पर फिंच के हाथों लपके गए. स्मिथ की शानदार फील्डिंग के कारण रोहित और विराट का तालमेल बिगड़ा और रोहित शर्मा 55 गेंदों पर 65 रन बनाकर रन आउट होकर पवेलियन लौट गए. कप्तान कोहली 21 रन बनाकर कुल्टर नाइल की गेंद पर बोल़्ड हो गए. अब भारत की परेशानी शुरू हो चुकी थी. 41 रन बनाकर पांड्या एड्म जांपा की गेंद पर डेविड वॉर्नर की गेंद पर कैच थमा गए. यह भारत को लगा चौथा झटका था.

केदार जाधव ने 67 रनों की शानदार पारी खेली. रिचर्डसन की गेंद पर फिंच के हाथों कैच आउट होकर उन्होंने भी पैवेलियन की राह पकड़ी. मनीष पांडे को 33 रन पर पैट कमिंस ने क्लीन बोल्ड कर दिया. इस तरह भारत का पाचवां विकेट गिर चुका था. बारिश भी इस बीच बाधा बनी. दुबारा खेल शुरू हुआ. धौनी ने एक छक्का लगाकर उम्मीद तो जगाई लेकिन आज वह अपनी लय में नहीं थे. 13 रन बनाकर वह बोल्ड हो गए.

भारत की अब उम्मीद भी धुंधली हो चुकी थी. शमी 6 रन जबकि उमेश यादव दो रन बनाकर नाबाद रहे. और भारत आॅस्ट्रेलिया के हाथों से 21 रन से मैच गंवा चुका था. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से रिचर्डसन ने तीन, कूल्टर नाइल ने दो जबकि पैट कमिंस और एडम जम्पा ने एक-एक विकेट लिए. पांचवां और अंतिम वन डे आगामी 1 अक्टूबर को नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन के मैदान में खेला जाएगा.

खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में 

मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)