बिहार के क्रिकेटरों के साथ बीसीए के पदाधिकारी कर रहे छलावा: आदित्य वर्मा

लाइव सिटीज डेस्क: बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारी बिहार के क्रिकेटरों को धोखा दे रहे हैं. डिलॉइट कंपनी के रिपोर्ट में वर्तमान बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों को स्वयं से इस्तीफा दे देना चाहिए. यह मांग क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के अध्यक्ष प्रेम रंजन पटेल (एमएलए) और सचिव आदित्य वर्मा ने मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में किया.


राजधानी में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में गत 24 जून 2017 को बीसीसीआई के ऑफिस में विनोद राय पैनल ने क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार के सचिव आदित्य वर्मा को बुलाया था. उक्त बैठक में आदित्य वर्मा ने स्पष्ट रूप से विनोद राय पैनल को कहा कि आप राजस्थान की तर्ज पर बिहार के लिए एक केमिटी बना कर क्रिकेट गतिविधियों का संचालन करें. आदित्य वर्मा ने कहा कि डिलॉइट रिपोर्ट ने अपने ऑडिट रिपोर्ट में बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के ऊपर स्पष्ट रूप से रिमार्क किया है कि ये लोग प्रशासक के लायक नहीं है. अपनी रिपोर्ट में डिलॉइट कंपनी ने रिपोर्ट में लिखा है कि ये लोग बीसीसीआई द्वारा दिये गए राशि व क्रिकेट सामग्री को भी उचित ढ़ग से रखने में अक्षम है. श्री वर्मा ने कहा कि बिहार क्रिकेट संघ के वर्तमान सचिव रविशंकर प्रसाद सिंह कोषाध्यक्ष और अजय नारायण शर्मा सचिव थे.

अगर श्री शर्मा आरोपित हैं तो रविशंकर सिंह कैसे दोषमुक्त हो सकते हैं क्योंकि बगैर कोषाध्यक्ष की मिलीभगत के कोई भी राशि की निकासी नहीं कर सकता है. श्री वर्मा ने कहा कि बीसीए के वर्तमान अधिकारी डिलॉइट द्वारा उठाए गए सवालों से संबंधित कोई भी कागजात बीसीसीआई को उपलब्ध नहीं करा सका है. साथ ही बीसीए के वर्तमान पदाधिकारियों की सूची व उनके कार्यकाल की भी जानकारी नहीं दी है.सीएबी के सचिव ने कहा कि बीसीसीआई ने बिहार क्रिकेट संघ को मान्यता प्रदान किया है तो वे लोग अपनी मान्यता संबंधी पत्र को सार्वजनिक करें. वर्तमान बीसीए के पदाधिकारी यहां के खिलाड़ियों को दिग्भ्रमित कर रहे हैं. बगैर रणजी के मान्यता मिले ही बीसीए के वर्तमान अधिकारियों ने टीम चयन के लिए खिलाड़ियों की सूची जारी कर दिया है. सीएबी सचिव ने कहा कि बिहार के क्रिकेटरों का भविष्य खराब करने वाला एकमात्र व्यक्ति अमिताभ चौधरी है.

14 जुलाई को क्रिकेटरों का पैसा गबन करने वाले क्रिकेट संघ के पदाधिकारियों के खिलाफ माननीय उच्चतम न्यायालय से सीबीआई की जांच साथ-साथ एफआईआर दर्ज करने की मांग करेगा. सीएबी अध्यक्ष प्रेमरंजन पटेल विधायक ने कहा कि हमारा संघ बिहार की पूर्ण मान्यता हेतु लड़ाई लड़ रहा है. आने वाले समय में बिहार के क्रिकेटरों का भला क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार करेगा. संवाददाता सम्मेलन में संजय कुमार मंटू, चंद्रशेखर वर्मा अधिवक्ता इत्यादि पदाधिकारी मौजूद थे. साथ ही उन्होंने बताया कि अगले सितंबर माह में खिलाड़ियों का फिजीकल कैंप के साथ-साथ तीन दिन का राज्यस्तरीय अंपायर सेमिनार का आयोजन सीएबी करेगा.

महिला क्रिकेट के लिए उत्था हेतु पूर्णिया, मुजफ्फरपुर, सारण और सीवान में कार्य होगा.