CT17: फाइनल रविवार को, पाकिस्तान को हल्के में नहीं लेगा भारत

लाइव सिटीज डेस्क: चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में ये दूसरा मौका है जब भारत और पाकिस्तान आमने सामने हैं. अपने पहले ही मैच में भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबला हुआ था. हालांकि उस समय बाजी मारी थी गत चैंपियन भारत ने वो भी 124 रनों के बड़े अंतराल से. मौजूदा चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान ने बड़ा उलटफेर करते हुए फाइनल तक का सफर तय किया है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा है. पड़ोसी देशों के बीच अक्सर तनावपूर्ण राजनीतिक संबंध इस मुकाबले में और रंग मिलाते हैं. भारत-पाकिस्तान मुकाबला हमेश से ही क्रिकेट की दुनिया का सबसे बड़ा मुकाबला माना जाता रहा है. मैदान पर अक्सर दोनों देशों के खिलाड़ियों के बीच भी इसका नजारा अक्सर देखने को मिलता रहता है.
पाकिस्तान से कहीं ज्यादा मजबूत है भारत
दोनों टीमों की बात करें तो भारत-पाकिस्तान की अपेक्षा कहीं मजबूत टीम है. चैंपियंस ट्रॉफी में हेड-टू-हेड मुकाबलों की बात करें तो दोनों टीमें अब तक चार बार आमने—सामने आ चुकी हैं. जिसमें दो बार भारत ने तो दो बार पाकिस्तान ने बाजी मारी है.

उलटफेर करके फाइनल में पहुंचा है पाकिस्तान
मौजूदा चैंपियन भारत ने लीग चरण में पाकिस्तान से बेहतर प्रदर्शन किया है. कप्तान विराट कोहली ने पहले से ही घोषित कर दिया है कि वे पुरानी टीम के साथ मैदान पर उतरेंगे जबकि पाकिस्तान टीम में बदलाव कर सकता है. दोनों टीमों के पास इतिहास रचने का मौका है. पाकिस्तान मेजबान इंग्लैंड को हराकर फाइनल में पहुंचा है. भारत ने नंबर वन दक्षिण अफ्रीका को हराकर सेमीफाइनल का टिकट कटाया है.

भारत-पाकिस्तान दूसरी बार आईसीसी के बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में आमने-सामने हैं. इससे पहले भारत ने अपने पहले टी-20 विश्वकप में पाकिस्तान को फाइनल में हराया था. खिलाड़ियों के लिए ये मुकाबला भले ही क्रिकेट का एक मुकाबला हो लेकिन दोनों टीमों के फैन्स के लिए ये उससे कहीं अधिक है.

पाकिस्तान की गेंदबाजी कमाल की रही है
फिलहाल टीम के मुकाबले की बात करें तो विराट की अगुआई वाली भारतीय टीम के सामने पाकिस्तान की टीम का कोई मुकाबला नहीं है. लेकिन पाकिस्तान को हल्के में लेना किसी भूल से कम नहीं होगा. पाकिस्तान के पास गेंदबाजी में विभिन्नता है. खासतौर पर हसन अली जो इस समय टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट (10) लेने वाले गेंदबाज बने हुए हैं.

भारत की बल्लेबाजी के आगे पाक कहीं नहीं ठहरता
खिलाड़ियों की बात करें तो पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज अजहर अली का रोहित शर्मा के साथ कोई भी मैच नहीं है. अली अभी भी टिक-टिक वाला मैच खेलते हैं जबकि रोहित को जानने के लिए इतना काफी है. उनका सर्वोच्च स्कोर 264 रन है, जोकि वनडे का किसी भी खिलाड़ी का सबसे ज्यादा बड़ा स्कोर है. इसके अलावा अहमद शहजाद का शिखर धवन से कोई भी मुकाबला नहीं है.

धवन पिछली चैंपियंस ट्रॉफी में मैन ऑफ द टूर्नामेंट बने थे और इस बार भी एक कदम दूर हैं. जबकि विराट कोहली दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज हैं. अभी बांग्लादेश के खिलाफ पिछले मैच में कोहली ने सबसे तेज 8000 रन बनाने के रिकॉर्ड अपने नाम किया है. पाकिस्तान की गेंदबाजी पूरे टूर्नामेंट में शानदार रही है. मोहम्मद आमिर, हसन अली, जुनैद खान और इंग्लैंड के खिलाफ अपना डेब्यू करने वाले रुम्मन रईस ने अपने पहले ही मैच में कमाल का प्रदर्शन किया है.

भारत का मिडिल ऑर्डर किसी भी गेंदबाजी को ध्वस्त कर सकता है

भारत के लिए बांग्लादेश के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में केदार जाधव ने कमाल की गेंदबाजी कर दो विकेट झटके थे. भारतीय टीम का मिडिल ऑर्डर कितना मजबूत है इसका अंदाजा युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या और केदार जाधव की पिछली परफॉर्मेंस से ही पता चलता है. गेंदबाजी में भारत के पास दुनिया का बेस्ट डेथ ओवर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह शानादर फॉर्म में है.

इसके अलावा स्विंग मास्टर भुवनेश्वर कुमार तो गजब ढा रहे हैं. रविंद्र जडेजा, आर अश्विन भी शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं. फील्डिंग में भारत पाकिस्तान से कहीं ज्यादा मजबूत है. कुल मिलाकर ये मुकाबला भारत के पक्ष में हो सकता है अगर पाकिस्तान कोई बड़ा उलटफेर करने में कामयाब नहीं होता.
टीमें- भारत: विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, जसप्रित बूमराह, भुवनेश्वर कुमार, दिनेश कार्तिक, मोहम्मद शमी, अजिंक्य रहाणे , उमेश यादव.
पाकिस्तान: सरफराज अहमद (कप्तान और विकेटकीपर), अहमद शहजाद, अजहर अली, बाबर आज़म, मोहम्मद हफीज, शोएब मलिक, हसन अली, मोहम्मद अमीर, रुमान रय, जुनैद खान, इमाद वासीम, फहीम अशरफ, शदाब खान, फखार जमान, हरिस सोहेल.