मिताली की तुलना सचिन से करना सही नहीं : सुनील गावस्कर

mithali

लाइव सिटीज डेस्क : महिला विश्व कप 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिताली राज ने एक विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया था. महिला क्रिकेट में 6000 एकदिवसीय रन बनाने वाली वो विश्व की पहली महिला बल्लेबाज बनीं और उन्होंने इंग्लैंड की पूर्व कप्तान शार्लेट एडवर्ड्स (5992 रन) का रिकॉर्ड तोड़ा. जिसके बाद से उनकी तुलना क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर से की जाने लगी. मिताली के इस रिकॉर्ड के बाद भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. गावस्कर ने कहा कि इस जबरदस्त रिकॉर्ड के बाद मिताली की तुलना सचिन तेंदुलकर से नहीं होनी चाहिए.

गावस्कर ने कहा,” मिताली अपने आप में एक प्रेरणा है और उन्होंने अपने आप को ऐसे मुकाम पर पहुंचाया है, जिसका हमें जश्न मनाना चाहिए.” गावस्कर ने ये भी कहा कि अपने पूरे करियर में मिताली राज ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और उन्होंने अपने आप को इस काबिल बनाया है कि उनकी तुलना किसी पुरुष क्रिकेटर से नहीं होनी चाहिए.

mithali
1999 में भारत की तरफ से 16 साल की उम्र में अपना एकदिवसीय डेब्यू करने वाली मिताली ने पहले ही मैच में आयरलैंड के खिलाफ 114 रनों की शानदार पारी खेली थी. मिताली राज ने अभी तक भारत के लिए 183 एकदिवसीय खेले हैं और इसमें उनके नाम 6028 रन हैं. मिताली ने 5 शतक और 49 अर्धशतक बनाये हैं और उनका औसत 51.52 है. इसके अलावा मिताली ने 10 टेस्ट (663 रन, 1 शतक, 4 अर्धशतक) और 63 टी20 (1708 रन, 10 अर्धशतक) खेले हैं.


मिताली ने अपनी 164वीं पारी में 6000 रन पूरे किये, जबकि एडवर्ड्स ने 181 पारियों में 5992 रन बनाये थे. मिताली ने हाल ही में लगातार 7 अर्धशतक बनाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था और मौजूदा विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ उनका ये रिकॉर्ड थमा. विश्व कप 2017 में मिताली ने अभी तक 6 मैचों में तीन अर्धशतक की मदद से 247 रन बनाये हैं और भारत के लगातार चार जीत में उनका अहम योगदान था.

यह भी पढ़ें – पटना डीएसओ का संजय कुमार ने लिया चार्ज
वर्ल्ड स्कूल कॉम्बेट गेम्स कराटे में बिहार के रोहन ने जीता सोना

अब लगातार चार मैच में जीत के बाद भारत को मौजूदा विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था और ऐसे में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ आखिरी मैच टीम के लिए ‘करो या मरो’ का मामला हो गया है. अगर भारतीय टीम मैच जीतेगी या मैच रद्द होगा, तो वो सेमीफाइनल में पहुँच जाएंगी. अगर न्यूज़ीलैंड मैच जीतेगी तो भारत विश्व कप 2017 से बाहर जाएगा.