बर्थडे स्पेशल : टेस्ट हो, टी-20 या फिर वनडे सहवाग के खेलने का तरीका हमेशा एक जैसा

लाइव सिटीज डेस्क : मुल्तान के सुल्तान काहे जाने वाले भारत के महान ओपनरों में से एक वीरेंद्र सहवाग का आज 39वां जन्मदिन है. बर्थडे पर सहवाग को सोशल मीडिया पर जमकर बधाईयां मिल रही हैं. सहवाग का सिर्फ नाम ही काफी है गेंदबाजों के मन में खौफ पैदा करने के लिए.

टेस्ट हो, टी-20 या फिर वनडे सहवाग का खेलने का तरीका हमेशा एक जैसा ही रहता था. वह हमेशा पहली बॉल से ही गेंदबाज पर अटैक किया करते थे. और इसकी गवाही उनके रिकॉर्ड्स भी देते हैं. यूं तो वीरू क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन अब भी कमेंटेटर के तौर पर उनका जलवा कायम है. वीरू की हिंदी कमेंट्री के लाखों चाहने वाले हैं.

कमेंट्री के अलावा सहवाग नए सोशल मीडिया किंग भी बन गए हैं. कई मुद्दों पर उनके ट्वीट, किसी को बर्थडे विश करने का अंदाज़ या फिर किसी की टांग खिंचाई करना वीरू ने सोशल मीडिया पर अपनी पारी को कुछ इस तरह ही आगे बढ़ाया है.

सहवाग ने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक जड़े हैं. उनका पहला तिहरा शतक मुल्तान में पाकिस्तान के खिलाफ आया था. तब वीरू ने 375 गेंदों में 309 रन जड़े थे. वीरू ने कई कार्यक्रम में इससे जुड़े कई किस्से साझा किए हैं. इनमें से एक है, जब वीरू बल्लेबाजी कर रहे थे तो सचिन नॉन स्ट्राइक एंड पर उनके साथ थे. तो सचिन उन्हें लगातार समझा रहे थे कि ऊंचे शॉट मत खेल आउट नहीं होना है.

लेकिन जब वो 295 पर पहुंचे, तो वीरू ने सचिन को साफ कह दिया. अगर अब स्पिनर आया तो मैं छक्का ही मारूंगा चाहे मैं आउट ही क्यों ना हो जाऊं. और ऐसा ही हुआ, अगले ओवर में स्पिनर आया और सहवाग ने छक्का मारकर अपना तिहरा शतक पूरा किया था.

आपको बता दें कि वीरेंद्र सहवाग ने कुल 104 टेस्ट मैचों में 8586 रन बनाए थे, जिनमें 23 शतक शामिल रहे. वीरू का हाईस्कोर 319 रहा. वहीं वनडे में भी 251 मैचों में 8279 रन और हाईस्कोर 219 रन रहा. 19 टी-20 में सहवाग ने 394 रन बनाए हैं.