गौतम गंभीर ने छोड़ी दिल्ली रणजी की कप्तानी, अब कमान संभालेंगे ईशांत शर्मा

team-india

लाइव सिटीज डेस्कः 2017-18 रणजी सीजन के लिए इशांत शर्मा दिल्ली रणजी टीम के कप्तान बनाए गए हैं. उन्हे गौतम गंभीर की जगह टीम की कमान सौंपी गई है. अनुभवी सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने शुक्रवार को दिल्ली रणजी टीम की कप्तानी छोड़ दी. 36 साल के गंभीर ने पिछले चार रणजी ट्रॉफी सत्र में दिल्ली की कप्तानी संभाली थी. हालांकि वह बतौर खिलाड़ी दिल्ली टीम से जुड़े रहेंगे लेकिन उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है.

डीडीसीए के वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया कि, “हां, गंभीर ने डीडीसीए प्रशासक विक्रमजीत सेन, चयन समिति अध्यक्ष अतुल वासन और क्रिकेट मामलों की समिति के चेयरमैन मदन लाल को अपने फैसले के बारे में बताया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि दूसरे खिलाड़ी के लिये कप्तानी संभालने का ये सही समय है क्योंकि वह सिर्फ खिलाड़ी के तौर पर खेलना चाहते हैं.” गंभीर को विजय हजारे ट्रॉफी के पिछले सीजन में कप्तानी से हटा दिया गया था और युवा ऋषभ पंत को यह जिम्मेदारी सौंपी गयी थी.

उस टूर्नामेंट में दिल्ली ग्रुप लीग से ही बाहर हो गयी थी और इस दौरान टीम को सबसे ज्यादा नुकसान गंभीर और कोच केपी भास्कर के बीच तकरार से हुआ था. अनुशासनात्मक समिति ने गंभीर को सजा भी सुनाई थी और उन्हें चार मैचों के लिए निलंबित कर दिया गया था. प्रदर्शन नहीं दिखाने के बावजूद भास्कर को कोच बरकरार रखा गया, जिससे गंभीर का कप्तान बने रहना मुश्किल हो गया क्योंकि रणनीति को लेकर दोनों के विचार विपरीत हैं.

ईशांत के चयन के बारे में अधिकारी ने कहा, “ईशांत ने 77 टेस्ट मैच खेले हैं और अब उनके सीमित ओवरों के मैचों के लिए टीम में चुने जाने की संभावना कम है तो वह सभी ग्रुप लीग के मैचों में उपलब्ध रहेंगे. ऋषभ पंत भारत ए टीम से जुड़े हैं और उन्मुक्त चंद लगातार खराब प्रदर्शन कर रहे हैं इसलिये उन्हें कप्तान नहीं चुना जा सकता था.”

यह भी पढ़ें – महिला हैंडबॉल टीम में छा गईं बिहार की ख़ुशबू 
खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.) 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*