टीम इंडिया में सेलेक्ट हुआ ऑटो चालक का बेटा, न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेंगे टी-20 सीरीज

siraj

लाइव सिटीज डेस्कः न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए हैदराबाद के मध्यम तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज का टीम इंडिया में चयन किया गया है. भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज के बाद 3 मैचों की ही टी20 सीरीज खेलेगी. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने इस सीरीज के लिए टीम इंडिया की घोषणा की. मीडियम पेसर सिराज पहली बार टीम इंडिया के लिए खेलेंगे.

हैदराबाद के मोहम्मद सिराज के लिए यह किसी सपने के पूरे होने जैसा है. सिराज की जिंदगी में पहला अहम मोड़ इस वर्ष आईपीएल की नीलामी के दौरान आया, जब इस टूर्नमेंट के दसवें सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 2.6 करोड़ का दांव लगाकर खरीदा था. 23 साल के सिराज ने हैदराबाद के लिए शानदार प्रदर्शन किया.

टीम इंडिया में शामिल होने के बाद हैदराबाद के युवा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने अपनी कई ख्वाहिशों को साझा किया है. साथ ही अपने पिता से ये ना करने की गुजारिश भी है. कहते हैं ना मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके सपनों में उड़ान होती है. ऐसा ही सिराज के साथ हुआ. एक गरीब परिवार का लड़का, जिसके पिता ऑटो चलाते थे और वह अब टीम इंडिया की तरफ से खेलने जा रहा है.

सिराज के पिता मोहम्मद गौस एक ऑटो चालक थे लेकिन आर्थिक हालात भी सिराज के क्रिकेट करियर में रोड़ा नहीं बने. पिता ने कभी आर्थिक तंगी को बेटे के क्रिकेटर बनने के सपने के आड़े नहीं आने दिया और तमाम दिक्कतों के बावजूद ऑटो चलाकर बेटे के लिए क्रिकेट की महंगी किट का इंतजाम किय. सिराज ने गरीबी को बेहद नजदीक से देखा है. वह अपने घर के आसपास जरूरतमंद बच्चों को फ्री में क्रिकेट कोचिंग देते हैं.

क्रिकेट में पहला इनाम था 500 रुपये

हैदराबाद के सिराज ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके क्रिकेट करियर की पहली कमाई 500 रुपए थी. सिराज ने कहा था, ‘क्लब का मैच था और मेरे मामा टीम के कप्तान थे. मैंने 25 ओवर के मैच में 20 रन देकर 9 विकेट लिए. मेरे मामा इससे बहुत खुश हुए क्योंकि हम मैच जीते. मामा ने मुझे इनाम के रूप में 500 रुपए दिए थे. सिराज ने 14 प्रथम श्रेणी मैचों में 53 और 13 लिस्ट-ए क्रिकेट मैचों में 20 विकेट लिए हैं.