सेमीफाइनल की दूसरी जंग, पाकिस्तान के सामने होगी श्रीलंका की चुनौती

srilanka pak

लाइव सिटीज डेस्क : उलटफेर भरी जीत दर्ज करने के बाद पाकिस्तान और श्रीलंका का अभियान पटरी पर आ गया है और दोनों टीमें आज यहां (कार्डिफ) चैम्पियंस ट्राफी के अंतिम ग्रुप मैच में एक दूसरे से भिड़ेंगी जो एक तरह से ‘क्वार्टरफाइनल’ मुकाबले की तरह ही होगा. दोनों टीमों ने अपना शुरूआती मैच गंवा दिया था लेकिन दोनों ने टूर्नामेंट के सबसे बड़े उलटफेर परिणाम हासिल कर वापसी की. अगर वर्षा के कारण मुकाबला नहीं हुआ तो दोनों टीमों को 1-1 अंक मिलेगा और बेहतर नेट रनरेट के आधार पर श्रीलंका सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी.

पाकिस्तान को अपने पहले मुकाबले में भारत ने 124 रनों से हराया था. वहीं दूसरे मैच में उसने दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ लुईस नियम के तहत मात देते हुए सेमीफाइनल की उम्मीदों को जिंदा रखा था. वहीं श्रीलंका को अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन दूसरे मैच में उसने सभी को हैरान करते हुए भारत को मात देते हुए. सेमीफाइनल की रेस में अपना नाम बनाए रखा था. दोनों टीमें जब एक दूसरे के खिलाफ खेलेंगी तब दिमाग में बारिश का ख्याल जरूर होगा जो इस टूर्नामेंट के अधिकतर मैचों में हावी रही है.

srilanka pak

श्रीलंका का पलड़ा भारी

पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मिली जीत के लिये अच्छी गेंदबाजी को श्रेय दिया था और वह श्रीलंका के खिलाफ इसी तरह का प्रदर्शन करना चाहेंगे. वहीं पाकिस्तानी टीम को बर्मिंघम में काफी समर्थक मिले थे लेकिन कार्डिफ में ऐसा होने की उम्मीद नहीं है, देखते हैं कि इससे टीम के प्रदर्शन पर कितना असर पड़ता है.

प्रबल दावेदार चुनना थोड़ा कठिन 

दोनों पाकिस्तान और श्रीलंका अपनी उलटफेर भरी जीत से काफी आत्मविश्वास से भरे हैं, जिससे मैच में प्रबल दावेदार को चुनना थोड़ा कठिन है.  इतिहास हालांकि पाकिस्तान के पक्ष में हैं जिसने चैम्पियंस ट्राफी में श्रीलंका पर तीन में से दो मैचों में जीत दर्ज की है. वहीं दोनों टीमों ने एक दूसरे के खिलाफ कुल 147 मैच खेले हैं जिसमें से पाकिस्तान ने 84 में जबकि श्रीलंका ने 58 में फतह हासिल की है. एक मैच टाई रहा था जबकि चार मैचों का परिणाम नहीं निकल सका था. इस टूर्नामेंट के ज्यादातर मैचों में बारिश ने खलल डाली है और अगर कल का मैच बारिश से धुल जाता है तो सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये गणना काफी पेचीदा हो जायेगी.