रवि शास्त्री ने टीम इंडिया के कोच बनने की जताई इच्छा

लाइव सिटीज डेस्क: कुंबले-विराट विवाद के कारण टीम इंडिया के हेड कोच का पद खाली होने के बाद टीम इंडिया के डायरेक्टर रह चुके रवि शास्त्री ने मंगलवार को कोच बनने की इच्छा जता दी. सूत्रों के मुताबिक वह टीम इंडिया के कोच पद की रेस में शामिल हो गए हैं जल्दी ही वह इसके लिए आवेदन करेंगे.

कोच के रूप में शास्त्री कप्तान विराट कोहली की पहली पसंद हैं. चैंपियंस ट्रॉफी से पहले कोहली ने सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण से कोच पद की दौड़ में शास्त्री का नाम शामिल करने का अनुरोध किया था. चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में हार के बाद कोच अनिल कुंबले ने अपना पद छोड़ दिया. हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित सीओए ने कहा था कि वेस्टइंडीज दौरे पर कुंबले टीम इंडिया का कोच बने रहेंगे. लेकिन कुंबले टीम के साथ लंदन से वेस्टइंडीज नहीं गए. निजी कारणों का हवाला देकर वह स्वदेश लौट आए.


टीम इंडिया का कोच बनने की दौड़ में पूर्व कप्तान वीरेंद्र सहवाग, सनराइजर्स हैदराबाद के कोच टॉम मूडी, डोडा गणेश, लाल चंद राजपूत और रिचर्ड पायबस के नाम शामिल हैं. 24 जून को बीसीसीआई ने कोच पद के आवेदन की तारीख को बढ़ाकर 9 जुलाई कर दिया गया था. आवेदन की तारीख बढ़ाने की घोषणा करते हुए बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि जिन लोगों ने मुख्य कोच पद के लिए आवेदन कर दिया है, उन्हें अब दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं है. उनका नाम अंतिम सूची में शामिल कर लिया जाएगा.
इससे पहले कोच पद के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 31 मई रखी गई थी.

बीसीसीआई जुलाई में टीम इंडिया के श्रीलंका दौरे से पहले हेड कोच का चयन करना चाहती है. एक खेल वेबसाइट क्रिक नेक्स्ट में छपी खबर के मुताबिक बीसीसीआई के अधिकारियों ने शास्त्री से कोच पद के लिए आवेदन करने को कहा था लेकिन शास्त्री ने उनसे कहा था कि यदि उन्हें कोच चुना जाना निश्चित होगा तभी वह इसके आवेदन करेंगे. पिछली बार शास्त्री कोच पद की रेस में कुंबले से पिछड़ गए थे ऐसे में वह दोबारा तब तक कोच पद की दौड़ में तबतक शामिल नहीं होना चाहते थे जब तक उन्हें रिजेक्ट किए जाने की संभावना है.

वह इस बात की गारंटी चाहते हैं कि उन्हें ही टीम इंडिया का नया कोच नियुक्त किया जाएगा.