कभी तेंदुलकर से हुई थी तुलना, अब डिप्रेशन के चलते इस वर्ल्ड रिकॉर्ड होल्डर ने छोड़ा क्रिकेट

sports
प्रणव धनवाड़े

लाइव सिटीज डेस्क: जिस बल्लेबाज की तुलना क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से होने लगी थी, उसने अचानक क्रिकेट खेलना छोड़ दिया. इस चौंकाने वाली खबर पर यकीन करना मुश्किल है लेकिन यह सच है. जी हां हम बात कर रहे हैं युवा क्रिकेटर प्रणव धनवाड़े की. प्रणव धनवाड़े ने साल 2016 में अंडर-16 क्रिकेट में  1009 रन बनाकर क्रिकेट में तहलका मचाने दिया था.

धनावड़े के लिए उनकी उपलब्धि ही उनके लिए परेशानी का सबब बन गयी है. धनावड़े अब अपनी उपलवब्धियों को भूल जाना चाहते हैं. कुछ दिनों पहले मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) की ओर से मिल रही 10,000 रुपये की वार्षिक स्कॉलरशिप को बंद करने का आग्रह करने वाले धनावडे के बारे में मीडिया में जो खबर चल रही है उसके अनुसार उसने क्रिकेट खेलना ही छोड़ दिया है.



pranav-dhawde

युवा क्रिकेटर प्रणव धनवाड़े ने क्रिकेट न खेलने का फैसला किया है और इसके पीछे का कारण उनका अवसार (डिप्रेशन) बताया जा रहा है. वो अपने खराब प्रदर्शन से परेशान थे और इसके चलते दिन प्रति दिन वो डिप्रेशन में आते गए.

भयंकर तनाव के चलते छोड़ा क्रिकेट

प्रणव की बल्लेबाजी देखते हुए इस प्लेयर को मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) 10 हजार प्रतिमाह स्कॉलरशिप दी गई ताकि वह अपनी पढ़ाई और खेल को जारी रख सके लेकिन इसके बाद खराब फॉर्म के चलते प्रणव को दरकिनार कर दिया गया. रूठे हालात ने यहीं पर साथ नहीं छोड़ा. एआईआर इंडिया और दादर यूनियर ने भी प्रणव को अपने यहां नेट प्रेक्टिस से रोक दिया. इसके चलते गहरे अवसाद में आ चुके इस बल्लेबाज ने क्रिकेट खेलना ही छोड़ दिया.

पिता ने लिखा खत तो मिला ये जवाब

इतना ही नहीं प्रणव के पिता प्रशांत धनावड़े ने जब एमसीए (मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन) को स्कॉलरशिप फिर से देने के हेतु लेटर लिखा तो जवाब आया कि- ‘जब प्रणव फिर से शानदार फॉर्म में होगा तो इसे जारी रखा जाएगा. ‘हालांकि प्रणव के कोच मोबिन शेख का कहना है कि ’16 साल के इस खिलाड़ी को वो लगातार मोटिवेट करने की कोशिश कर रहे हैं. सुर्खियों में छाने के बाद प्रणव अपना फोकस काफी हद तक खो चुका है. लगातार आलोचना भी इसकी अहम वजह है लेकिन मुझे यकीन है कि अगले साल तक हम प्रणव के रूप में एक शानदार बल्लेबाज को देखेंगे.’

कब टूटा मनोबल

बताया जा रहा है कि प्रणव को एमसीए द्वारा अंडर-16 टीम से बाहर का रास्ता दिखाया गया जिसके बाद उन्होंने बेंगलुरु का रूख़ किया. मिली खबर के अनुसार प्रणव बेंगलुरु के उसी क्लब में गए जहां राहुल द्रविड़ के बेटे समित द्रविड़ प्रैक्टिस करते हैं. वहां से जब वो लौटे तो एयर इंडिया और दादर यूनियन ने उनकी नेट प्रैक्टिस पर पाबंदी लगा दी जिससे उनको गहरी चोट पहुंची.