विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप : कर्मज्योति ने जीता कांस्य

लाइव सिटीज डेस्क : विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप के आठवें दिन भारत के लिहाज से खास रहा. महिलाओं के डिस्कस थ्रो F55 के फाइनल में भारत की करमज्योति दलाल ने कांस्य पदक जीतने में कामयाब रही. इसी के साथ  भारत ने वर्ल्ड पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2017 में अपने पदकों की संख्या तीन कर ली है. महिलाओं की एफ55 वर्ग में दलाल ने आखिरी क्षणों में 19.02 मीटर थ्रो फेंककर कांसा अपने नाम किया. उन्होंने बहरीन की अलोमरी रोबा को मामूली अंतर से पीछे छोड़कर यह पदक जीता. रोबा ने 19.01 मीटर थ्रो किया.


पिछले साल रियो पैरालिंपिक में दलाल का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा था. तीन नाकाम थ्रो के बाद वह शुरुआत भी नहीं कर पाईं थीं. हालांकि 30 वर्षीय दलाल ने इस साल मार्च में हुए फाजा इंटरनैशनल आईपीसी इंटरनैशनल ऐथलेटिक्स ग्रां प्री दुबई में इस वर्ग में गोल्ड मेडल जीता था.

इस साल, सुंदर सिंह गुर्जर ने पैरा ऐथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड जीतकर भारत का खाता खोला था. उन्होंने जैवलिन थ्रो में भारत के लिए पदक जीता था. दो दिन बाद अमित सरोहा ने क्लब थ्रो इवेंट में सिल्वर मेडल जीता था. उन्होंने एफ-51 वर्ग में पदक जीता था.

दलाल शुरुआत में राष्ट्रीय कबड्डी टीम का हिस्सा थीं. एक दिन वह अपने घर के छज्जे से गिर गई थीं. वह एक साल तक बिस्तर से हिल भी नहीं पाईं. इसके चलते उन्हें यह खेल छोड़ना पड़ा. इसके बाद 2014 में उन्होंने डिस्कस थ्रो शुरू किया. दो साल में दलाल अनरैंक से दुनिया की टॉप-10 खिलाड़ियों में शामिल हो गईं.

फिलहाल दलाल दुनिया में 8वें नंबर की खिलाड़ी हैं. 2015 पैरा ऐथेलेटिक्स चैंपियनशिप में वह चौथे स्थान पर रही थीं. दलाल ने 2014 पेइचिंग में एशियन गेम्स में दो कांस्य पदक जीते हैं.

यह भी पढ़ें – आॅस्ट्रेलिया को 36 रन से रौंदकर WWC के फाइनल में पहुंचा भारत