आयुक्त ने की निगम क्षेत्र में विकास कार्यों की समीक्षा

गया (कुमुद रंजन): प्रमंडलीय आयुक्त जितेन्द्र श्रीवास्तव की अध्यक्षता में आज प्रमंडलीय सभागार में गया नगर निगम क्षेत्र में अतिक्रमण, साफ—सफाई आदि विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा की गई. समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी कुमार रवि, नगर आयुक्त, सदर अनुमंडल पदाधिकारी, नगर पुलिस उपाधीक्षक, यातायात पुलिस उपाधीक्षक, नगर निगम के डिप्टी मेयर एवं काफी संख्या में नगर निगम के वार्ड पार्षद उपस्थित थे. आयुक्त ने नगर आयुक्त से मुख्य मार्गो पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के संबंध में जानकारी ली.


बताया गया कि छह मुख्य पथों पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी और 42 व्यक्तियों से जुर्माना की वसूली हुई. आयुक्त ने जानना चाहा कि इस क्रम में जिन्होंने अपना अतिक्रमण नहीं हटाया है उनमें से कितनों का सामान जब्त किया गया है. आयुक्त ने नगर निगम क्षेत्र के मुख्य मार्गों पर लग रहे अतिक्रमण एवं उससे जाम की समस्या के मद्देनजर कार्रवाई पर असंतोष जताते हुए प्रभावी कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

पटना में पहली बार 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट, निर्माण तेजी में, कीमत 9 लाख से स्‍टार्ट

इसके लिए परसों से अभियान के तहत हल्ला बोल गाड़ियों के माध्यम से सड़कों पर हुए अतिक्रमण को हटाने का निर्देश देते हुए कहा कि सिकरिया मोड़ से गेवाल बिगहा, जीबी रोड, नई गोदाम, गांधी मैदान, स्टेशन रोड में सदर अनुमंडल पदाधिकारी, नगर पुलिस उपाधीक्षक एवं नगर आयुक्त संयुक्त रूप से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई सुनिश्चित करेगें.

टैक्स कलेक्टर, मजदूर, पुलिस बल, नगर निगम के राजस्व पदाधिकारी के साथ संबंधित वार्ड के पार्षद भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई में सहयोग करेंगे. सदर अनुमंडल पदाधिकारी दंडाधिकारी एवं नगर पुलिस अधीक्षक पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति सुनिश्चित करेंगे. दंडाधिकारी के रूप में राजस्व पदाधिकारी कार्य करेगें और उन्हें मेनपैक दिया जायेगा जिसके माध्यम से समस्या होने पर संबंधित थाना के पुलिस पदाधिकारी से समन्वय करेंगें. दो शिफ्टों में प्रतिदिन 16 घंटे गलत पार्किंग में लगी गाडियों को निरंतर उठवायेंगे.

तृप्ति की थीम अब ट्रेंड कर रही है देश-विदेश के रेस्तरां में, चर्चा में है Platter Range

आयुक्त ने उपस्थित जिलाधिकारी से कहा कि वे और वरीय पुलिस अधीक्षक इस संबंध में संयुक्तादेश जारी करेंगे. 30 जुलाई से निरंतर कार्रवाई का निर्देश देते हुए अगले पांच दिनों तक नगर आयुक्त, एसडीओ एवं नगर डीएसपी को गहन मॉनिटरिंग करने का आदेश दिया गया. अतिक्रमण हटाने के लिए दो गाड़ियां अलग—अलग रूट में निरंतर भ्रमण करते हुए कार्रवाई करेगें जिसमें नगर वार्ड पार्षद, निगम कर्मी, पुलिस बल, दंडाधिकारी, मजदूर एवं अन्य रहेंगे साथ ही जब्त सामान हेतु ट्रैक्टर भी साथ रहेगा. कार्रवाई से पूर्व नगर निगम क्षेत्र में माइकिंग कराने का निर्देश दिया गया. आयुक्त ने कहा कि अतिक्रमणकारी को गुलाब का फूल भी भेंट करें. यदि अड़ते हैं तो उनके विरूद्ध कार्रवाई भी करें. प्रथम चरण में जीबी रोड, लहेरिया टोला, नई गोदाम मार्ग में अतिक्रमण हटाने को कहा गया. जुलाई माह में पितृपक्ष क्षेत्र में भी अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई का निर्देश दिया गया.

पटना में बन रहा है 1 करोड़ का लग्‍जरी फ्लैट, सब कुछ साथ मिलेगा

आयुक्त ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में पार्किग की समस्या के संबंध में नगर आयुक्त, सदर एसडीओ, नगर डीएसपी एवं यातायात डीएसपी भ्रमण कर देख लें कि किस स्थान पर पार्किग स्थल उपयुक्त होगा. उस स्थान को चिन्हित कर पार्किग स्थल के लिए अधिसूचित करें. केपी रोड में अतिक्रमण की समस्या को देखते हुए आयुक्त ने इसे वाकिंग स्ट्रीट बनाने की सलाह दी. उक्त क्षेत्र में दिन में बैरिकेंटग कर वाहन परिचालन पर रोक लगायी जाए. रात्रि में ही वाहनों के परिचालन की अनुमति होगी. आयुक्त ने कहा कि पितृपक्ष मेला को देखते हुए नगर निगम द्वारा साफ—सफाई की कार्रवाई के संबंध में समीक्षा किया.

नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि पीपी मेला के समय अतिरिक्त सात सौ मजदूर लगाये जाते हैं. आयुक्त ने पितृपक्ष मेला के पूर्व 15 जुलाई से अभियान के तहत बेहतर तरीके से साफ—सफाई कराने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने आयुक्त को जानकारी देते हुए कहा कि स्ट्रीट लाइट, तालाबों की साफ—सफाई वेदियों की साफ—सफाई आदि नगर निगम द्वारा पूर्व से आरंभ कर दी जाती है. सेक्टर के माध्यम से साफ—सफाई की मॉनिटरिंग कराते हुए व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाती है. सभी सफाई कर्मियों को ड्रेस नगर निगम द्वारा दिये जाते हैं. आयुक्त ने नगर क्षेत्र में लावारिस रूप से घूम रहे मवेशियों के संबंध में समुचित कार्रवाई का निर्देश दिया गया. देवघाट पर पशुओं से श्रद्धालुओं को हो रही कठिनाई की चर्चा करते हुए 15 जुलाई से इस संबंध में नगर निगम को अभियान चलाकर कार्रवाई का निर्देश दिया गया.

आयुक्त ने नगर निगम क्षेत्र में ली गई विभिन्न योजनाओं के संबंध में पूछा. दिग्घी तालाब के सौन्दर्यीकरण की योजना की जानकारी ली. बताया गया कि राशि उपलब्ध है लेकिन टीएस एवं प्रशासनिक स्वीकृति नहीं हुई है. नगर आयुक्त ने हेरिटेज की चार योजनाओं को मिला कर दस योजनाओं के संबंध में जानकारी दी, जिसका क्रियान्वयन होना है. आयुक्त ने कहा कि इन योजनाओं में कहां समस्या है, बतायें. मासिक समीक्षा बैठकों में इन योजनाओं के प्रगति की समीक्षा भी सम्मिलित करें ताकि क्रियान्वयन तेजी से कराया जा सके.

आयुक्त ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में कई सड़कों के बीच में बिजली के पोल खड़े हैं जिसके कारण आवागमन/यातायात में समस्या होती है. आयुक्त ने जीबी रोड एवं समाहरणालय से काशीनाथ मोड़ तक सड़क के बीच खड़े बिजली के खंभे को विस्थापित करने हेतु इंडिया पावर को अधियाचना भेजें. नगर आयुक्त ने कहा कि विभिन्न सरकारी विभागों पर नगर निगम का दो करोड़ रूपये से अधिक होल्डिंग पर बकाया है. आयुक्त ने पांच लाख से अधिक के बकायादार विभागों की बैठक जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कराने का निर्देश नगर आयुक्त को दिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*