आठ दिसम्बर को ‘मौत की चट्टान’ हटाने के लिए होगी दूसरे चरण की ब्लास्टिंग

गया : पिछले तीन महीने से दुर्गास्थानवासियों सहित जिला प्रशासन के लिए सिरदर्द बने ‘मौत की चट्टान’ को हटाने के लिए आठ दिसम्बर को दूसरे चरण की ब्लास्टिंग की जाएगी. ब्लास्टिंग की तैयारियों को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त लियान कुंगा ने अपने कार्यालय कक्ष में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तृत जानकारी लेते हुए कई दिशा-निर्देश भी दिएं. बैठक के दौरान सीएसआईआर, धनबाद के वैज्ञानिकों ने रेखा चित्र के जरिए आयुक्त को पूरी प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी दी.

वैज्ञानिकों ने आयुक्त को बताया कि ब्लास्टिंग को लेकर चट्टान में 73 स्थानों पर ड्रीलिंग के माध्यम से छेद किया जाएगा. जिसमें रसायन व विस्फोटक लगाए जाएंगे. अधिकारियों ने आयुक्त को बताया कि दूसरे चरण की ब्लास्टिंग की तैयारियां युद्ध स्तर पर की जा रही है. शुक्रवार तक पहली ब्लास्टिंग के बाद टूटे हुए चट्टान के मलबे को हटाने का काम पूरा कर लिया जाएगा. वहीं छह दिसम्बर तक तार की जाली का घेरा दोबारा लगाने के बाद आठ दिसम्बर को ब्लास्टिंग की जाएगी. आयुक्त ने दोपहर 12 से दो बजे के बीच ब्लास्टिंग करने का निर्देश अधिकारियों को दिया.gaya

वहीं दूसरी ओर पत्थर तोड़ने के लिए एक अतिरिक्त ड्रीलिंग मशीन तथा कम्प्रेसर लगाने को भी कहा. आयुक्त ने इस दौरान सदर एसडीओ को ब्लास्टिंग के पहले निकट के घरों को खाली कराने का निर्देश दिया. साथ ही स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर उन्हें चट्टान तोड़े जाने की सूचना देने का भी निर्देश दिया. साथ ही चट्टान से 100 मीटर के दायरे को पूरी तरह से खाली कराने व चट्टान के 10 मीटर के घेरे में स्थित सभी मकानों से कीमती सामान एवं पालतू मवेशियों को भी हटाने का निर्देश दिया. बैठक में मगध प्रक्षेत्र के डीआईजी सौरव कुमार, डीएम कुमार रवि, एसएसपी गरिमा मल्लिक, इनोवेशन सॉल्यूशंस के निदेशक, आयुक्त के प्रभारी सचिव, सदर एसडीओ विकास कुमार जायसवाल, सीएसआईआर, धनबाद के वैज्ञानिक, भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता, खनन विभाग के सहायक निदेशक सुरेन्द्र प्रसाद सिन्हा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*