17 छात्रों के बीच हुआ स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का वितरण

गया:  बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत सोमवार को गया के डीएम कुमार रवि ने 17 बच्चों के बीच क्रेडिट कार्ड का वितरण करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी रवि ने कहा कि इस योजना के माध्यम से छात्रों के इंजिनियरिंग, मेडिकल, फार्मेसी एवं अन्य कोर्स के अध्ययन निमित्त आर्थिक सहायता प्राप्त होगी. उन्होंने इसे छात्रों के लिए हितकारी योजना बताते हुए कहा कि आर्थिक विपन्नता से अब किसी को भी आगे पढाई करने में कठिनाई नहीं होगी और वे अपने सपनों को पूरा कर सकेगें.

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाने के लिए कोई भी छात्र इसके लिए ऑनलाईन आवेदन कर सकता है. पैन संख्या, आधारसंख्या एवं आवश्यक कागजातों के आधार पर बिना बैंकों के चक्कर लगाये बिहार के स्टुडेंट्स को क्रेडिट कार्ड योजना के तहत चार लाख रूपये तक ऋण उपलब्ध कराया जाता है जिसकी गारंटी सरकार लेती है. डीएम ने जानकारी दी कि सरकार के सात निश्चय योजना के अंतर्गत ‘आर्थिक हल, युवाओं को बल’ निश्चय के तहत कुशल युवा कार्यक्रम एवं स्वयं सहायता भत्ता योजना युवाओं के सहायतार्थ कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं. इसके लिए ऑनलाईन आवेदन प्राप्त किए जायेगें. उसके बाद उन्हें सूचना देकर यहां बुलाया जायेगा और आवश्यक कागजातों के वेरिफिकेशन के आधार पर उनकी पात्रता के अनुरूप योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा. उन्होंने गया जिला के युवाओं से अपील किया कि वे इन योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लें और अपने सपनों को साकार करें.

इस अवसर पर उन्होंने अपील की कि इस योजना के संबंध में वे अपने सहपाठियों और मित्रों को भी जानकारी दें. कार्यक्रम के दौरान डीएम ने संजय कुमार, अन्जान सिन्हा, अन्नू सिंह, अरविन्द कुमार तरूण, जितेन्द्र नाथ सिन्हा, अब्दुल करीम, रामविलास रविदास, मो. औरंगजेब आलम, मो. नाजिर हुसैन सहित 17 छात्रों एवं उनके अभिभावकों को बिहार स्टुडेंट कार्ड योजना के तहत कार्ड प्रदान किया. जिलाधिकारी ने कार्ड प्रदान करते समय संबंधित छात्रों से जानकारी हासिल की कि वे किस कोर्स के लिए योजना का लाभ उठा रहे हैं. उन्हें इस योजना की जानकारी कैसे मिली और साथ ही यह भी कि इसके लिए उन्हें कोई परेशानी या समस्या तो नहीं हुई. उन्होंने यह जानकारी भी प्राप्त की कि उन्होंने ऑनलाईन आवेदन कैसे किए, साइबर कैफे से आवेदन करने में उन्हें कितनी राशि लगी आदि.


ज्यादातर लोगों ने जिलाधिकारी को बताया कि उन्हें अखबारों एवं मित्रों के माध्यम से जानकारी प्राप्त हुई और 40 से 100 रूपये तक की राशि ऑन लाईन आवेदन करने में व्यय हुए. साथ ही यह भी कि उन्हें इसमें किसी भी प्रकार की कोई समस्या या परेशानी नहीं हुई और उन्हें डीआरसीसी केन्द्र पर काफी सहयोग किया गया. जिलाधिकारी जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र के सिंगल विंडों काउन्टर पर भी गये और वहां की कार्यविधि का मुआयना किया और काउन्टर पर खड़े आवेदकों से फीडबैक लिया. स्वयं सहायता भत्ता योजना के आवेदक/आवेदिका बांकेबाजार के मो0 मुख्तदिर आलम और कोंच के पवन कुमार, गुरारू की सुनीता कुमारी, बेलागंज की आरती से पूछा कि वे किस योजना में आवेदन कर रहे है. उन्हें योजना की जानकारी कहां से मिली. साथ ही यह भी कि कुशल युवा कार्यक्रम का लाभ वे क्यों नहीं ले रहे हैं.

जिलाधिकारी ने आवेदकों से कहा कि यदि प्रखंडों में ही बिना शुल्क के ऑनलाईन आवेदन की सुविधा दी जायेगी ताकि आवेदकों को साइबर कैफे में मनमाना राशि नहीं देनी पडेगी और ऑनलाईन आवेदन करने हेतु अन्यत्र नहीं जाना पड़ेगा. उपस्थित जिला योजना पदाधिकारी को प्रखंडों में युवाओं को ऑनलाईन आवेदन की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र का निरीक्षण किया. पैन कार्ड एवं आधार बनाने के लिए बने सुविधा केन्द्र को देखा. ‘मे आई हेल्प यू’ काउन्टर पर जिलाधिकारी गये और पूछताछ करने आये व्यक्तियों को उत्तर देते कर्मियों की गतिविधियों को देखा. जिलाधिकारी ने ‘मे आई हेल्प यू’ को और कारगर बनाने का निर्देश दिया. वहां योजनाओं के संबंध में काउन्सिलिंग की अवधि को बढ़ाने को कहा.

जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने सभी सहायक प्रबंधकों एवं सिंगल विंडो ऑपरेटरों से कार्य की समीक्षा की और समस्याओं एवं उसके निदान के संबंध में विचार विमर्श किया. सिंगल विंडों ऑपरेटरों में मोबाईल से सूचना देने मे होने वाले व्यय, समय पर वेतन आदि के संबंध में जिलाधिकारी को बताया. जिलाधिकारी ने तुरंत संबंधित लोगों को इस संबंध में कार्रवाई का निर्देश दिया. समीक्षा के उपरांत जिलाधिकारी ने कहा कि बिहार स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में 338 आवेदन काफी कम हैं. अधिक से अधिक आवेदन प्राप्त करने हेतु व्यापक प्रचार प्रसार कराया जाना चाहिए.
यह भी पढ़ें:

मध्याह्न भोजन के चावल में रखी थी शराब, प्रिंसिपल गिरफ्तार

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*