शराब मामले में जब्त वाहनों की कराएं नीलामी : डीएम

गया: प्रत्येक सोमवार को निर्धारित साप्ताहिक समीक्षा बैठक जिलाधिकारी कुमार रवि की अध्यक्षता में समाहरणालय सभा कक्ष में आयोजित की गई जिसमें जिले में चल रही विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई. समीक्षा बैठक में डीएम ने उच्च न्यायालय, लोकायुक्त एवं मानवाधिकार आयोग के लंबित मामलों की समीक्षा की और ससमय कार्रवाई करते हुए प्रति शपथ पत्र दाखिल कर निष्पादन का निर्देश दिया. जिलाधिकारी ने शराब विनिष्टीकरण के मामले में दिए गये आदेश का अनुपालन प्रतिवेदन उत्पाद अधीक्षक से प्राप्त करने का निर्देश दिया. वहीं शराब जब्ती में पकडे गये वाहनों की नीलामी हेतु समाचार पत्रों में सूचना प्रकाशित कराने का निर्देश दिया.


बिहार लोक शिकायत अधिनियम के अंतर्गत प्राप्त परिवाद पत्रों की समीक्षा में बताया गया कि वर्तमान में 625 मामले लंबित हैं. सभी लोक शिकायत निवारण पदाधिकारियों को पत्र दें कि उनके यहां जितने मामले लंबित हैं उसका यथाशीघ्र निष्पादन सुनिश्चित करायें.
आरटीपीएस कार्यालय के जीर्णोद्धार हेतु सभी अनुमंडल एवं प्रखंड कार्यालय को पचास-पचास हजार रूपये का आबंटन दिया गया था लेकिन मोहरा, बाराचट्टी एवं अतरी प्रखंड को छोड़कर अन्य प्रखंडों एवं सभी अनुमंडल से प्रतिवेदन प्राप्त नहीं हुए है कि उक्त राशि से क्या क्या कार्य कराये गये हॅैं. जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि प्रतिवेदन प्राप्ति हेतु समय सीमा निर्धारित कर दें. यदि इसके बाद प्रतिवेदन प्राप्त नहीं होता है तो संबंधित प्रखंड /अनुमंडल के नाजिर का वेतन बंद करते हुए उनके सेवापुस्त में प्रतिकूल टिप्पणी अंकित की जायेगी. वही पूर्व निर्देश जिसमें आरटीपीएस कार्यालय के उपस्करों आदि की सुरक्षा हेतु सुरक्षाकर्मी तैनात करने के निर्देश के बाद भी टिकारी अंचल आरटीपीएस कार्यालय से कंप्यूटर चोरी होने पर अंचलाधिकारी टिकारी से स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया.


मिड डे मील योजना की समीक्षा में प्रभारी पदाधिकारी ने बताया कि 117 विद्यालयों में चापाकल खराब है और 201 विद्यालयों में चापाकल लगाने की जरूरत है. कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को निर्देश दिया गया कि प्राथमिकता के आधार पर विद्यालयों के खराब पड़े चापाकलों को ठीक करायें. वहीं पीएचईडी को नये चापाकलों को लगाने हेतु प्राप्त आबंटन से 50 चापाकल जिन विद्यालयों में नही है, लगाने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने कहा कि यह शिकायत पाई जाती है कि उपस्थिति से ज्यादा मिड डे मील बनता है. इस पर निगरानी रखें. जिलाधिकारी ने पूछा कि मिड डे मील योजना की जांच में अनियमितता पाये जाने पर वसूली एवं प्राथमिकी के साथ विभागीय स्तर पर क्या कारवाई की गई? 21 प्रधानाध्यापकों/शिक्षकों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ वसूली की कार्रवाई की जानकारी दी गई.

जिलाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जिन शिक्षकों ने अभी तक मिड डे मील की राशि जमा नहीं की है उनके विरूद्ध अविलंब प्राथमिकी दर्ज करायें. जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालय शिक्षा समितियों को मिड डे मील योजना हेतु थाली क्रय की राशि दी गई है. सुनिश्चित करने को कहा कि कोई ऐसा विद्यालय तो नही है जहां थाली उपलब्ध नहीं है. मिड डे मील की सभी थाली पर मार्क कर दें. प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी एवं शिक्षा विभाग के पदाधिकारी जांच में यह देखेंगे कि मिड डे मील हेतु विद्यालय में थाली उपलब्ध है या नहीं. थाली नहीं होने पर संबंधित व्यक्ति के विरूद्ध कार्रवाई का निर्देश दिया गया.


धान अधिप्राप्ति की जांच में जहां भी अनियमितता पाई जाती है, संबंधित पैक्स अध्यक्ष के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने के साथ—साथ संबंधित प्रखंड सहकारिता पदाधिकारी के विरूद्ध भी प्रपत्र क में आरोप गठित कर कार्रवाई करें. सभी प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी अपने अपने प्रखंडों में सीएमआर एवं पीडीएस खाद्यान्न की जांच करेंगे. खनन में जिलाधिकारी ने कहा कि खनन बंद करने के बाद भी शिकायतें मिल रही हैं. खनन पदाधिकारी ने कहा कि खनन सभी जगह बंद है. कार्रवाई में 14 गाड़ियों को जब्त किया गया है और दो की गिरफ्तारी की गई है. सडकों पर बालू की गाड़ियों के खड़े होने को लेकर असंतोष जताते हुए हटाये जाने का निर्देश दिया गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*