पर्यटन स्थलों की पर्याप्त सुरक्षा के इंतजाम पहली प्राथमिकता: डीएम

गया(कुमुद रंजन):

पितरों को मोक्ष देने वाला शहर गया, अंतर्राष्ट्रीय स्वरूप का महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है. कई प्रतिष्ठान ऐसे है जहां देश-विदेश से काफी संख्या में अतिविशिष्ट व्यक्ति, श्रद्धालु एवं पर्यटक आते हैं. विशेष अवसरों पर लाखों की संख्या होती है. ये प्रतिष्ठानों सुरक्षा के दृष्टिकोण से अति संवेदनशील हैं. इनकी सुरक्षा में किसी प्रकार की शिथिलता या चूक का प्रभाव अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर परिलक्षित होगा. इसी संबंध में शनिवार को जिलाधिकारी कुमार रवि ने महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा—व्यवस्था के संदर्भ में संबंधित अधिकारियों को संबोधित किया.

विष्णुपद मन्दिर में खराब हैं कैमरे…!
डीएम ने अधिकारियों से विष्णुपद मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था की जानकारी ली. बताया गया कि सोलह सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, जिनमें दो खराब हैं. जिलाधिकारी ने पूछा क्या यह संख्या पर्याप्त है? यदि और आवश्यक है तो लगायें. थाना स्तर पर इसके लिए पंजी संधारित रहनी चाहिए और नियमित रूप से मॉनिटर किया जाए. नाईट विजन की व्यवस्था रहनी चाहिए. बैद्यनाथ मंदिर, देवघर की तर्ज पर भीड नियंत्रण एवं व्यवस्था के लिए मंदिर प्रबंधन कमिटी से वॉलन्टियर की व्यवस्था रहना चाहिए जिसकी सूचना विष्णुपद थाना को भी दी जाए.

विष्णुपद मंदिर प्रबंधन समिति के प्रतिनिधि ने बताया कि पूर्व में 8-2 पुलिस बल तैनात थी जिसे 4-1 बल कर दिया गया है, टीओपी बंद है. वरीय पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक ने इस संदर्भ में कहा कि विष्णुपद पद थाना बनने के बाद टीओपी हटाया गया है. उन्होंने नगर पुलिस उपाधीक्षक को निर्देश दिया कि हर समय मंदिर परिसर की सुरक्षा में पुलिस बल वायरलेस सेट के साथ तैनात रखें और सीसीटीवी की निरंतर मॉनिटरिंग करायें. जिलाधिकारी ने मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा तैनात किए गये सात प्राइवेट गार्डो का सत्यापन थाना स्तर से कराने का निर्देश देते हुए और अधिक संख्या में आवश्यकतानुसार प्राइवेट गार्ड मंदिर की सुरक्षा में रखने हेतु मंदिर प्रबंधन समिति को कहा.


उन्होंने मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश एवं निकास के लिए अलग-अलग द्वारों से व्यवस्था हेतु निर्देश दिया. जूते-चप्पल आदि के रखने हेतु समुचित स्थान पर व्यवस्था करने को कहा. उन्होंने सदर अनुमंडल पदाधिकारी, नगर पुलिस अधीक्षक को मंदिर प्रबंधन समिति के साथ बैठक कर सुरक्षा के बिन्दु पर आवश्यकताओं का आकलन करने का निर्देश दिया. मंगलागौरी मंदिर की सुरक्षा पर चर्चा की गई. मंगलवार एवं शनिवार को मंदिर में विशेष व्यवस्था रखने के निर्देश दिए गये. पर्याप्त सुरक्षा हेतु सुरक्षा गार्डो एवं सीसीटीवी की संख्या आकलन करने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने कहा कि मंगलागौरी की सुरक्षा व्यवस्था संवेदनशील है. अतएव मंदिर में आने-जाने के लिए अलग अलग व्यवस्था रहनी चाहिए. पार्किंग स्थल पर व्यवस्था हेतु निर्देश दिए गये.

गया रेलवे स्टेशन पर बेकार पड़े सीसीटीवी कैमरे
बैठक के दौरान बताया गया कि गया रेलवे स्टेशन पर एक भी सीसीटीवी कार्य नहीं कर रहा है. प्रवेश एवं निकास द्वारों पर चेंकिंग की व्यवस्था नहीं है, ट्रेन आने के समय भी चेंकिंग का अभाव दिखता है। लोग पटरी पार कर एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आते जाते रहते हैं. प्लेटफार्म संख्या सात एवं बाहरी सडक के बीच कोई अवरोध नहीं है. जिसके कारण प्लेटफार्म पर असामाजिक तत्व आते—जाते रहते हैं. डीएम ने कहा कि गया रेलवे स्टेशन काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि विभिन्न धर्मों के श्रद्धालु, पर्यटक, अतिविशिष्ट व्यक्ति इससे आते जाते हैं. सुरक्षा के टृष्टिकोण से काफी संवेदनशील है. मंडल रेल प्रबंधक को इस संबंध में जिलाधिकारी स्तर से पत्र देने का निर्देश दिया गया है.

सीसीटीवी से कराएं महाबोधि मंदिर की सुरक्षा
बैठक के दौरान बताया गया कि महाबोधि मंदिर की सुरक्षा के लिए वहां सशस्त्र बल तैनात हैं. इसके अलावा सीसीटीवी भी कार्यरत हैं. डीएम ने प्रभावी रुप से सीसीटीवी के माध्यम से निगरानी एवं मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया गया. वरीय पुलिस अधीक्षक ने सीसीटीवी मॉनिटरिंग एवं मंदिर सुरक्षा के लिए दो अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारी प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया, वहीं विष्णुपद मंदिर की सुरक्षा एवं निगरानी के लिए एक अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारी की तैनाती का निर्देश दिया गया. महाबोधि मंदिर के प्रवेश द्वार पर समुचित जांच हो रही है या नहीं पूछा गया. डीएफएमडी एवं एचएचएमडी जांचद्वार के कार्यरत होने की जानकारी ली गई.

लगेज एक्सरे मशीन की उपयोगिता के संबंध में बताते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि एक और लगेज एक्सरे मशीन लगाने का निर्णय लिया गया है. नगर पंचायत क्षेत्र मे लगे सीसीटीवी से मॉनिटर के संबंध में थाना प्रभारी से पूछा गया. थाना प्रभारी ने राजापुर, सुजाता बाईपास मे भी सीसीटीवी लगाने का अनुरोध किया. जिलाधिकारी ने सीसीटीवी कैमरों के समक्ष ही वाहन जांच करने का निर्देश दिया. उन्होंने बोधगया में यातायात प्लान के संबंध मेंं पूछा। कालचक्र पूजा के अवसर पर यातायात प्लान काफी सफल होने की बात कहते हुए जिलाधिकारी ने पुलिस उपाधीक्षक को नोड-1 तक टैंपों, व्यावसायिक वाहनों के प्रवेश देते हुए आगे ग्रीन वाहनों के परिचालन की अनुमति देने का निर्देश दिया. उन्होंने इस संबंध में कार्ययोजना तैयार कर यातायात व्यवस्था दुरूस्त एवं सुव्यवस्थित करने को कहा.

महाबोधि मंदिर परिसर में सुरक्षा हेतु 12 स्थायी वॉच टावर बनाया जाना है, जिसका डिजायन अनुमोदित हो गया है. बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम के द्वारा प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है. बोधगया में पुलिस बैरेक के लिए होम्योपैथिक कॉलेज के पास एवं पुलिस उपाधीक्षक आवास के लिए करमापा मंदिर के पास भूमि चिन्हित किया गया है. बोधगया नगर पंचायत क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने के लिए अनुमंडल पदाधिकारी सदर को सीओ के माध्यम से नोटिस जारी करा कर हटवाने का निर्देश दिया गया.

गया एयरपोर्ट पर बना पुलिस पिकेट

गया एयरपोर्ट के लिए पुलिस पिकेट बनाया गया है. लोगों की जानकारी के लिए बोर्ड बैनर आदि लगाने का निर्देश दिया गया है. एयरपोर्ट के सुरक्षा पदाधिकारी ने कहा कि हवाई जहाज के लैंडिंग के समय सड़क पर एकत्र लोगों को हटाने के लिए पुलिस गश्ती करायी जाए. एयरपोर्ट मार्ग पर प्रातः जॉगिंग करने वालों की सुरक्षा आदि के लिए वरीय पुलिस अधीक्षक ने दो डीएपी जवानों को मोटरसाईकिल से गश्ती कराने का निर्देश दिया. एयरपोर्ट ऑथरिटी की भूमि पर अवैध कब्जा, अतिक्रमण एवं निर्माण के संबंध में सुरक्षा पदाधिकारी के द्वारा जानकारी देते हुए कार्रवाई करने का अनुरोध किया गया.

जिलाधिकारी ने एयरपोर्ट ऑथरिटी की भूमि के अतिक्रमण या अवैध निर्माण में अधिनियम का उल्लंघन पर सबसे पहले तुरंत प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश दिया. तत्पश्चात सदर अनुमंडल पदाधिकारी सीओ के माध्यम से नोटिस निर्गत कर अवैध निर्माण हटाने की कार्रवाई करेंगे. विभिन्न पांच पहाड़ों यथा रामशिला, प्रेतशिला, ब्रह्मयोनि, ढुंगेश्वरी आदि पर नाइट विजन कैमरे की चोरी की जानकारी पर जिलाधिकारी समुचित सुरक्षा व्यवस्था करने का निर्देश दिया.

यह थे उपस्थित
बैठक में नगर पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार, सदर अनुमंडल पदाधिकारी विकास कुमार जायसवाल, नगर पुलिस उपाधीक्षक आलोक कुमार सिंह, बोधगया पुलिस उपाधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक विधि-व्यवस्था सतीश कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, संबंधित थानों के प्रभारी पुलिस पदाधिकारी, विष्णुपद मंदिर के प्रबंधन समिति के प्रतिनिधि, रेलवे स्टेशन के प्रतिनिधि, एयरपोर्ट के सुरक्षा पदाधिकारी, विशेष शाखा के पदाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*