धू-धूकर जले रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले, प्रदूषण से मुक्त आतिशबाजी का लोगों ने लिया आनंद

गया(पंकज कुमार)  : गया के ऐतिहासिक गांधी मैदान ने धू-धूकर जला रावण. दशहरा को असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक माना जाता है. इस अवसर पर स्थानीय गांधी मैदान में भगवान श्रीराम ने लंकापति रावण, मेघनाथ और कुंभकर्ण का संहार किया. विजयादशमी के अवसर पर शनिवार को लंकापति रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद के विशाल पुतलों का दहन किया गया.

मौक़े पर बिहार सरकार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार, मगध रेंज के आयुक्त जितेंद्र श्रीवास्तव, डीएम कुमार रवि, एसएसपी गरिमा मलिक सहित तमाम अधिकारी और गणमान्य लोग उपस्थित थे.

इस दौरान गांधी मैदान में जमकर आतिशाबाजी हुई. लगभग 15 मिनट तक गांधीमैदान आतिशबाजी की रोशनी से नहाया हुआ रहा. सबसे खास बात यह थी कि यह आतिशबाजी प्रदूषण से मुक्त हुई.

हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों ने इसका जमकर लुत्फ उठाया. पूरा गांधी मैदान महिलाओं, पुरूषों और बच्चों से भरा हुआ था. रावण वध से पूर्व शहर के आजाद पार्क से पूरे बाजे-गाजे के साथ पारंपरिक विशाल जुलूस निकाला गया. जुलूस शहर के प्रमुख मार्गों से होकर गुजरा और गांधी मैदान तक पहुंचा. गांधी मैदान में रावण वध को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे.

सत्यपाल मलिक बनाए गए बिहार के नए गवर्नर, गंगा बाबू को मेघालय का जिम्मा

मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉटघर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़ेआज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*