वित्तीय वर्ष के अंत में कुछ दिन शेष, लक्ष्य प्राप्ति में जनसरोकार सम्बंधित विभाग काफी पीछे

लाइव सिटीज, गया से पंकज कुमार : वित्तीय वर्ष 2017-18 की समाप्ति 31 मार्च को हो जाएगी. लेकिन जनसरोकार से सम्बंधित कई अहम विभाग दिए गए वित्तीय लक्ष्य को हासिल करने में अभी तक असफल है. ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि ऐसे जनसरोकार सम्बंधित विभाग प्राप्त आवंटन को ‘सरेंडर’ कर सकते हैं. राज्य सरकार की ओर से जनसरोकार से सम्बंधित कई अहम विभाग को बड़ी राशि योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए पूर्व में आवंटित की गई है.

समय-समय पर योजनाओं की समीक्षा जिला से लेकर मुख्यालय तक होती रही है. इसके बावजूद विभागीय अधिकारी तय लक्ष्य को हासिल करने में असफल है. जबकि वित्तीय वर्ष की समाप्ति कुछ ही दिनों में हो जाएगी.

मगध प्रमंडल के आयुक्त जीतेन्द्र श्रीवास्तव ने पूछे जाने पर माना कि कई अहम विभाग जिनमें जनसरोकार से सम्बंधित विभाग शामिल हैं, तय वित्तीय लक्ष्य को प्राप्त करने में अभी असफल है. उन्होंने कहा कि मगध प्रमंडल के सभी पांच जिलों के डीएम/डीडीसी से लेकर प्रखंड स्तर पर बीडीओ/सीओ को आदेश दिया गया है कि वे वित्तीय अनुशासन हर हाल में सुनिश्चित कराएं.

आयुक्त जीतेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि उपरोक्त विषय के सम्बन्ध में प्रमंडल के सभी पांच जिलों के अधिकारियों को निर्देशित किया जा चुका है. उनके द्वारा अधीनस्थ अधिकारियों को वित्तीय अनुशासन बनाए रखने के लिए दिए गए आदेश के बाद जिला से लेकर प्रखंड मुख्यालय के drawing n disbursing अधिकारियों के बीच हड़कंप मचा हुआ है. क्योंकि आयुक्त को जानने वाले अधिकारी एवं कर्मी का मानना है कि वित्तीय अनुशासन बनाए रखने में नाकाम सरकारी मुलाजिम विभागीय अनुशासन की चपेट में आ सकते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*