पांच चरणों में होगी एसएससी की परीक्षा

गया: कर्मचारी चयन आयोग, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग, भारत सरकार द्वारा कर्मचारी चयन आयोग(मध्य क्षेत्र) इलाहाबाद के अधीन मल्टी टासि्ंकग परीक्षा 2016 पांच चरणों में आयोजित की जायेगी. जिसके प्रथम चरण की परीक्षा दिनांक 30.04.17 को दो पालियों में गया शहर के 22  केन्द्रों पर आयोजित होगी. इस परीक्षा में कुल 9216-9216 परीक्षार्थीं दोनों पालियों में सम्मिलित होंगें. आज जिलाधिकारी कुमार रवि समाहरणालय सभा कक्ष में उक्त परीक्षा आयोजन के संदर्भ में सभी केन्द्राधीक्षक, सभी स्टैटिक एवं गश्ती दंडाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों को ब्रीफिंग में जानकारी दे रहे थे. उन्होंने हर हाल में कदाचार मुक्त, स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण परीक्षा के आयोजन का निर्देश देते हुए कहा कि हाल के दिनों में विभिन्न परीक्षाओं में कुछ शिकायतें प्राप्त हुई है इसलिए पूरी सर्तकता बरतते हुए एवं चाक चौबंद तरीके के साथ परीक्षा का आयोजन सुनिश्चित करायें. किसी प्रकार के कदाचार से संबंधित शिकायत पर सख्त कारवाई वीक्षक, केन्द्राधीक्षक के विरूद्ध की जायेगी.कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित मल्टी टास्किंग स्टाफ(नन टेक्निकल) परीक्षा पांच चरणों में यथा 30.04.17, 14.05.17, 28.05.17, 04.06.17 एवं 11.05.17 को आयोजित की जायेगी. दो पालियों में 10 बजे पूर्वाहन से 12 बजे मध्यान तक एवं 2.00 बजे अपराह्न से 4.00 बजे अपराहन तक परीक्षा ली जायेगी. परीक्षा केन्द्र के प्रवेश पर गहन फ्रिस्कींग कराने का निदेश दिया गया. छात्राओं की फ्रिस्कींग के लिए महिला दंडाधिकारियों की पर्याप्त महिला पुलिस बल के साथ सभी परीक्षा केन्द्रों पर प्रतिनियुक्ति की गई है. जिलाधिकारी ने सबसे अधिक निगरानी फ्रिस्कींग पर रखने का दिया. किसी भी सूरत में मोबाईल फोन, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट परीक्षा भवन में ना जाये. इस आशय का सूचना प्रवेश द्वार पर लगाने का निर्देश दिया गया है. मोबाईल अथवा इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के साथ पकड़े जाने पर सख्त कारवाई करने का निर्देश दिया गया है. निरीक्षण कार्य प्रभावी ढ़ंग से करने को कहा गया है. इसके लिए आयोग के निर्देशानुसार 22 राजपत्रित अधिकारियों को निरीक्षण पदाधिकारी बनाया गया है. जिलाधिकारी ने कहा कि यह परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग की अत्यन्त महत्वपूर्ण परीक्षा है जिसकी गरिमा को बनाये रखने के लिए आवश्यक है कि हर हाल में परीक्षा कदारचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण ढंग से संचालित हो. परीक्षा में गलत एवं कदाचार पूर्ण तरीका अपनाये जाने पर बिहार परीक्षा संचालन नियमावली 1981 के धाराओं के अंतर्गत कठोर कानूनी कारवाई की जायेगी. शतप्रतिशत छात्र-छात्राओं की तलाशी सुनिश्चित करायी जायेगी. सभी परीक्षा केन्द्र पर पेयजल, शौचालय, पंखा की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जायेगी. विधि व्यवस्था एवं समन्वय हेतु जिला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका दूरभाष संख्या 0631-2222253 कार्यरत रहेगा. नियंत्रण कक्ष का वरीय प्रभारी पदाधिकारी अपर समाहर्त्ता राजकुमार सिन्हा को बनाया गया है. परीक्षा के दौरान विधि व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाओं के वरीय प्रभारी के रूप में अनुमंडल पदाधिकारी सदर विकास कुमार जायसवाल एवं पुलिस उपाधीक्षक नगर एवं विधि व्यवस्था को जवाबदेही दी गई है. परीक्षा संचालन के दौरान अपर समाहर्त्ता राजकुमार सिन्हा एवं नगर पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार को विधि व्यवस्था का सम्पूर्ण प्रभार दिया गया है. बैठक में समाहर्ता के विशेष कार्य पदाधिकारी, सभी निरीक्षण पदाधिकारी, कर्मचारी चयन आयोग के पदाधिकारी सहित अन्य उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*