अब बिना कंप्यूटर दुनिया के लोगो संग खेले ‘शतरंज’ वो भी अपने ‘चेसबोर्ड’ पर

chess

लाइव सिटीज. सेंट्रल डेस्क: ‘चेस’ दिमागी कसरत का वो खेल है जिसका इजाद तो भारत में हुआ लेकिन आज पुरी दुनिया इस खेल की दीवानी है. भारत में आज जब हम चेस की बात करते हैं तो हमें विश्वनाथन आनंद सामने रोल मॉडेल के रुप में दिखार्इ् देते हैं. वहीं ये खेल इनडोर गेम हैं.ये दो लोगों के बीच में ही खेला जा सकता है. लेकिन दुनिया आज डिजिटल है तो चेस का गेम अब डिजिटली भी खेला जाने लगा है. कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाईल पर आप ये गेम खेल सकते हैं और अकेले खेल सकते हैं. यानि एक मेंबर आप होते हैं और दूसरा दूनिया में कोई भी एक व्यक्ति आपके साथ खेल सकता है या फिर आप कंप्यूटर के साथ भी खेल सकते हैं.

vishwnathan-anand
Viswanathan Anand

लेकिन आपने वो कहावत तो सुनी होगी कि ‘ओल्ड इज गोल्ड’ यानि पूराना में जो मजा है वो नए में नहीं. यानि चेस का मजा जो चेस बोर्ड पर खेलने में आता है वो कंप्यूटर और मोबाईल पर नहीं. इतना ही नहीं कंप्यूटर और मोबाईल पर एक से दो घंटे तक लगातार गेम खेलना आपकी बौद्धिक क्षमता का विकास करे या न करे लेकिन आपको कई नुकसाान दे सकता है. खासतौर पर आपकी आंखों के लिए भी ये बड़ा नुकसानदायक है. ऐसे में चेसबोर्ड पर चेस खेलना स्वास्थ्य के साथ ही आपके मनोरंजन के लिए बेहतर आॅप्सन है.

Artificial Intelligence के साथ पुराने अंदाज में ले सकेंगे चेस का मज़ा

लेकिन चेस बोर्ड के साथ सबसे बड़ी दिक्क्त ये है कि आपके सामने कोई हो तभी आप खेल सकेंगे. वहीं अगर आप अकेले हैं तो आप चेस का खेल नहीं खेल सकेंगे. (वो फिल्मी सीनों पर ध्यान न दिजिएगा जिसमें आपको एक अंकल जी अकेले चेस खेलते दिखते हैं, ऐसे लोग कम होते हैं)॰ अब ऐसे में अगर आपको चेस खेलने का मन है लेकिन आप चेसबोर्ड पर ही इस खेल को खेलना चाहते हैं तो आप क्या करेंगे? आप किसी न किसी को कन्वेंस करेंगे की वो आपके साथ खेले.

Chess-board-2
Chess-board-2

लेकिन अब आपको ऐसा करने की जरुरत नहीं है. जी हां बिल्कुल अब आप चेसबोर्ड पर ही चेस खेल सकेंगे चाहे कोई आपके साथ खेले या नहीं खेलें. आपके आस-पास कोई हो या नहीं आप दुनिया भर में किसी के साथ भी ये गेम खेल सकेंगे वो भी घर बैंठे और अपने चेस बोर्ड पर. अब आप सोच रहे होंगे कि ये कैसे पॉसिबल है? तो भैया ये बिल्कुल पॉसिबल है क्योंकि अब चेसबोर्ड आर्टिफिसियल इंटेलिजेंश से जुड़ गया है. अब आप अपने चेसबोर्ड पर कंप्यूटर पर चेस खेलने का आनंद ले सकेंगे. इतना ही नहीं घर बैठे आप दुनिया के किसी भी व्यक्ति जो चेस खेलना चाहता है तो आप उसके  साथ इस खेल का आनंद ले सकते हैं.

आप सोच रहे होंगे की ये टेकनॉलजी क्या है? कैसा है? और किसने बनाया है? तो हम आपको इसके बारे में सबकुछ बताएंगे.

मुंबई के दो दोस्तो ने किया है ये कारनामा

चेस वो खेल है जिसे दुनिया को भारत ने दिया है और इस बार भी  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को चेस से जोड़ने का काम  भारत में ही हुआ है.  ये काम करनेवाले है मुंबई के दो दोस्त भाब्य गोहिल और आतुर मेहता. इन दोनों दोस्तों ने इस बारे में सबसे पहले तब सोंचा जब ये मुंबई के केजे सोमैया कॉलेज में 2013 में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे.

gohil-and-mehta
भाब्य गोहिल और आतुर मेंहता.

पढ़ाई के दौरान ही दोनो दोस्तो ने इस आईडिया पर काम करना शुरू किया. सबसे पहले दोनों ने एक ब्राईल चेसबोर्ड तैयार किया. जिसमें अवाज फीडबैक देने की क्ष्मता थी. यानी ये चेसबोर्ड अवाज के हिसाब से चेस के प्यादों को एक से दूसरे खाने में पहुंचा देता था.ये उनके कॉलेज का एक प्रोजेक्ट टास्क था, जिसे दोनों दोस्तो ने मिलकर पूरा किया था.

उनके इस इनोंवेशन ने रोम में हुए एक इनोवेशन फेयर में धमाल मचा दिया . इससे गदगद दोनों दोस्तों ने इस प्रोजेक्ट को एक लेवल आगे ले जाने का सोचा और अब ये शारनदार सा सुपर चेसबोर्ड तैयार किया. इसे तैयार करने के लिए दोनों ने करीब 4 साल तक एक ही प्रोजेक्ट पर काम किया और इस प्रोजेक्ट के कंप्लीट होने के पहले इसके 7 प्रोटोटाईप बनाए. इस चेस बोर्ड को मोबाईल एप के जरिए आॅपरेट करते हुए आप दुनिया के  किसी  भी कोने के व्यक्ति संग खेल सकते हैं.

ऐसे करता है काम

बड़ा सवाल ये है कि ये चेस बोर्ड काम कैसे करता है? तो आपको बता देते हैं कि ये काम कैसे करता है?

इसके लिए आपके पास ये नया चेसबोर्ड होना चाहिए और  एक स्मार्टफ़ोन. सबसे पहले आपको अपने फोन में एक एप डाउनलोड करना होगा. इसके बाद आपको अपने चेस बोर्ड जिसमें ब्लूटूथ कनेक्टीविटी की सुविधा है को अपने मोबाईल के एप से ब्लूटूथ से कनेक्ट करना होगा. इसके बाद  आप एप पर दुनिया के किसी भी कोने के व्यक्ति संग अपना मैच लेकर अपने चेस बोर्ड पर गेम खेल सकते हैं.

जैसे ही कोई दूसरा व्यक्ति अपने चेस बोर्ड पर चाल चलेगा यानि अपने प्यादे को आगे बढ़ाएगा, आपके चेस बोर्ड पर दूसरे रंग के प्यादे एक खांचे से आगे बढ़कर दूसरे खांचे में पहुंच जाएंगे.  है न काफी मजेदार. इस तर आप दुनिया के किसी भी व्यक्ति संग अपने चेसबोर्ड पर मैच खेल सकते हैं.

playing-chess
playing-chess

आपको बता दे कि ये तकनीक आटिफिसियल इंटेलिजेंश के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धी है. इससे आपको गेम को मोबाईल या कंप्यूटर के बजाए उसके पूराने आंदाज में आपको जहां खेलने का मजा मिलेगा वहीं आपको दुनिया के नई और पूरानी दोनों तकनीक का मजा मिलेगा.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*