EX MLA सुमित सिंह ने बागेश्वरी बाबू को दी श्रद्धांजलि, कहा- जमुई में खेल जगत के थे पितामह

बागेश्वरी बाबू जमुई जिले के जाने माने समाजसेवी व खेल प्रेमी थे. जिनका रविवार को तड़के उनके आवास पर हृदयाघात से निधन हो गया

लाइव सिटीज, जमुई(राजेश कुमार) : जदयू नेता सह चकाई के पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने कहा कि बागेश्वरी बाबू हम सबों के अभिभावक और जमुई में खेल जगत के पितामह थे. उनका निधन मेरी निजी एवं अपूरणीय क्षति है. उनसे स्नेह, ज्ञान एवं खेल से जुड़े ज्ञान निरंतर प्राप्त होता था,  खेलों के प्रति जनमानस को संवेदनशील बनाने में उनकी महती भूमिका थी.

जमुई जिला एवं समस्त अंग क्षेत्र में निःस्वार्थ भाव से खेल, खेल भावना, खेल संस्कृति, खेल प्रतिभाओं के संरक्षण, संवर्द्धन और विकास में उनका योगदान अतुलनीय अपरिमेय है. मैं जिला एथलेटिक्स संघ का अध्यक्ष बना तो उनका मार्गदर्शन मुझे हमेशा मिला. खेल उनके प्राण थे. मेरी पूरी संवेदना उनके परिजनों, उनके अपनों और उनके लाखों चाहने वालों के साथ है.

इसे भी पढ़ें: जमुई के जाने माने समाजसेवी बागेश्वरी बाबू का हृदय गति रूकने से निधन, इलाके में शोक की लहर

हम सब जमुई और खेल को उच्चतम शिखर पर पहुंचाकर उनकी अंतिम इच्छा पूरी कर सकते हैं. बागीश्वरी प्रसाद सिंह जी खैरा प्रखंड के जीत झिंगोई पंचायत के जोगा झिंगोई ग्राम निवासी थे. उन्होंने अपने पारिवारिक दायित्व से अधिक महत्व खेलों के विकास को दिया. तभी तो वह गांव से अधिक जमुई में रहते थे, यहां तमाम खेल आयोजनों में उनका अहम किरदार होता था.

पूरे जमुई जिला में खेल संस्कृति के सृजन एवं संवर्द्धन में उन्होंने अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया. खेल ऐसे भी सबसे निर्मल क्षेत्र है, खेल भावना सबसे पवित्र. ऐसे में इसके जमुई में सृजक बागीश्वरी बाबू कितने पवित्र, कोमल और निर्मल भाव वाले इंसान थे, समझ सकते हैं. जमुई ने आज एक और निष्काम कर्मयोगी खो दिया. उन्हें मेरा भावपूर्वक नमन ! श्रद्धांजलि !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*