वित्तीय समावेशन के मामले में जमुई जिला देश में अव्वल

जमुई, (राजेश कुमार) : नीति आयोग ने जमुई जिला को वित्तीय समावेशन के मामले में पूरे देश में प्रथम स्थान दिया है. आधारभूत संरचना , कौशल विकास समेत अन्य कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों में जमुई जिला वांछित जिला (Aspirational District) के रूप में मई 2019 तक उच्च स्कोरिंग हासिल कर सम्पूर्ण देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है.

नीति आयोग की मानें तो वित्तीय समावेशन के मामले में बिहार के जमुई जिला ने पुरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है. वहीं उत्तरप्रदेश का बलरामपुर जिला दूसरे स्थान पर है. हरियाणा का मेवट तीसरे स्थान पर है जबकि झारखंड के दुमका जिला को चौथे स्थान पर रखा गया है. नीति आयोग के मुताबिक वित्तीय समावेशन के मामले में छत्तीसगढ़ का बीजापुर जिला पांचवें स्थान पर है.

जिले के तेजी से प्रगति की ओर बढ़ते कदम पर हर्ष व्यक्त करते हुए जमुई के डीएम धर्मेन्द्र कुमार ने इसे जिले के अधिकारियों और कर्मियों की बेहतर कार्य शैली का नतीजा माना है. उन्होंने कहा है कि बेहतर टीम भावना और कर्मियों का कार्य के प्रति समर्पण निश्चित तौर पर अच्छा और संतोष जनक परिणाम देता है.

आपको बता दें कि 2018 में भी कृषि के क्षेत्र में जमुई जिला को नीति आयोग ने एस्पायर्सनल जिला में प्रथम स्थान दिया था. जिसकी चर्चा बीते  लोकसभा चुनाव के दौरान जमुई आए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी की थी. जमुई जिला को कृषि और वित्तीय समावेशन के क्षेत्र में पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त होने पर जमुई के बुद्धिजीवियों ने जिले की इस बड़ी उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए जमुई के डीएम धर्मेन्द्र कुमार को बधाई दी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*