पूर्व विधायक सुमित कुमार ने कहा- 4 वर्षों में चकाई में विकास का चक्का चार कदम भी आगे नहीं बढ़ पाया है

जमुई (राजेश कुमार): पिछले पांच वर्षों के दौरान अपनी कर्मभूमि चकाई विधानसभा क्षेत्र की दुर्दशा देख चुके चकाई के पूर्व विधायक सुमित कुमार सिंह ने भावुक होते हुए कहा है कि वे यहां के नेता नहीं बेटा हैं. उन्होंने कहा कि है कि अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने इस क्षेत्र के अतिनक्सल प्रभावित गांव चरकापत्थर में एक अस्पताल चालू करवाया था जो उपेक्षित होकर अब बंद हो चुका है. पूर्व विधायक मंगलवार को जिले के नक्सल प्रभावित रजौन पंचायत के बरवानी गांव पहुंचे थे जहां वे जदयू के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा है कि पिछले 4 वर्षों में चकाई में विकास का चक्का चार कदम भी आगे नहीं बढ़ पाया है. उन्होंने हैरत जताते हुए कहा कि विकास का ढोल पीटने वाले यहां के वर्तमान जनप्रतिनिधियों ने चरका पत्थर में उनके द्वारा चालू कराए गए अस्पताल को बंद होने से नहीं बचा पाए. उन्होंने स्पष्ट किया कि वर्तमान जनप्रतिधियों के कार्यकाल में गरीबों को राहत देने वाला सुदुरवर्त्ती क्षेत्र का वह अस्पताल अब बंद हो चुका है.

कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक सुमित सिंह ने कहा कि वर्ष 2010 से 2015 तक उन्होंने चकाई विधानसभा क्षेत्र में विकास के जितने भी काम किए हैं वह किसी अन्य विधानसभा की तुलना में कई गुना ज्यादा था. चकाई को चंडीगढ़ बनाने, बरनार जलाशय योजना का काम आगे बढ़ाने, चरका पत्थर में थाने की पुनर्स्थापना तथा इलाके के विकास की बातों का उल्लेख करते हुए पूर्व विधायक ने कहा कि वह जब विधायक बने थे तब बीड़ी मजदूरों को महज 28 रूपये की मजदूरी मिलती थी जिसे उन्होंने 80 रूपये करवाया.

उन्होंने कहा कि जबतक यह मजदूरी 180 रूपया नहीं हो जाता तब तक वे चैन से नहीं बैठेंगे. सुमित ने शिक्षा, सड़क, स्वास्थ्य के क्षेत्र में किए गए अपने कार्यों के बावत बताते हुए उपस्थित लोगों से उसकी तुलना पिछले 4 वर्षों से करने के लिए कहा.

पूर्व विधायक ने कहा कि नरियाना पुल टूटा तो उसकी मरम्मत के लिए आज कोई आवाज उठाने वाला नहीं है. उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय से जाति धर्म से आगे बढ़कर कर्तव्यनिष्ठ जनप्रतिनिधि चुनने की अपील की. कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत के पूर्व मुखिया गीता नंदन सिंह ने की जबकि मंच संचालन ईदो अंसारी ने किया. इस मौके पर भारी संख्या में जदयू कार्यकर्त्ता व स्थानीय लोग मौजूद थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*