मलयपुर में स्वर्ण व्यवसायी के घर नक्सली घटना ने जमुई पुलिस व अर्धसैनिक बलों की नींद कर दी हराम

मलयपुर में स्वर्ण व्यवसायी के घर पर नक्सली घटना ने जमुई पुलिस व अर्धसैनिक बलों की नींद हराम कर दी

लाइव सिटीज, जमुई(संतोष कुमार): मलयपुर में स्वर्ण व्यवसायी के घर पर नक्सली घटना ने जमुई पुलिस व अर्धसैनिक बलों की नींद हराम कर दी है. बिहार-झारखंड में पहली बार इस तरह की घटना से थानों की सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़ा होने लगे हैं. इसपर रोक लगाने को लेकर चकाई थाना परिसर में शनिवार को बंद कमरे में जमुई और गिरिडीह पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारियों की एक महत्वपूर्ण अंतरप्रांतीय बैठक आयोजित हुई.

लगभग तीन घंटे तक चली इस मैराथन बैठक से मीडिया को भी दूर रखा गया. बैठक समाप्ति के बाद भी अधिकारियों ने बैठक के बावत कुछ बताने से इंकार किया. इस बैठक में जमुई के एएसपी अभियान सुधांशु कुमार, चकाई पुलिस इंस्पेक्टर चन्देश्वर पासवान, गिरिडीह जिला के भेलवाघाटी सीआरपीएफ कैंप के कमाडेंट अजय कुमार, इंस्पेक्टर बी कुशवाहा आदि ने भाग लिया.

बताया जाता है कि बैठक के दौरान दोनो जिलों के अधिकारियों ने बार्डर इलाके में संचालित नक्सली गतिविधि पर रोक लगाने को लेकर गहन चर्चा की तथा जमुई गिरिडीह सीमा पर स्थित जंगलों में नक्सलियों के खिलाफ चल रहे अभियान को और तेज करने का निर्णय लिया. बार्डर में सक्रिय नक्सलियों और उसके मददगारों को चिन्हित कर सभी को गिरफ्तार करने की रणनीति बनाई गई.

बैठक में सर्च अभियान चलाने के दौरान विशेष चैकसी बरतने तथा संयुक्त अभियान चलाने का भी निर्णय लिया गया ताकि उस दौरान नक्सली किसी घटना को अंजाम नही दे पाएं. एक दूसरे जिले के जंगली सीमा में प्रवेश नहीं कर पाएं. बैठक में मलयपुर में हुए नक्सली घटना पर भी चर्चा हुई तथा हमेशा अर्लट रहने का निर्णय लिया गया. बैठक समाप्ति के बाद निकले जमुई एएसपी अभियान सुधांशु कुमार से पूछने पर बताया कि दोनों जिलों के अधिकारियों की यह आपसी बैठक थी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*