बाबाधाम में ऑनलाइन पूजा और दर्शन करेंगे भक्त, तैयारी में जुटा जिला प्रशासन

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क :  कोरोना के कारण बाबा बैधनाथ धाम देवघर में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का आयोजन इस साल नहीं होने की संभावना दिखाई दे रही है. देवघर जिला प्रशासन ने ई- पूजा के तहत भगवान बैधनाथ के पूजा और दर्शन करने की योजना बना रही है. जिला प्रशासन सावन महीने में बाबा बैधनाथ मंदिर क्षेत्र के आसपास सहित झारखंड प्रवेश द्वार कांवरिया पथ पर भी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था कर रही है.

श्रावणी मेले का आयोजन इस साल नहीं होना है. ऐसे में श्रद्धालुओं को रोकने की तैयारी देवघर जिला प्रशासन भी कर रहा है. देवघर की उपायुक्त ने बताया कि 30 जून तक झारखंड के सभी धार्मिक स्थल बंद रखा गया है. उपायुक्त नैंसी सहाय ने कहा राज्य सरकार के निर्देशानुसार 30 जून तक बाबा वैद्यनाथ मंदिर परिसर में आम श्रद्धालुओं का प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रखने का निर्देश है.



बता दें कि जानकारी के आभाव में पूजा- पाठ करने अभी भी कुछ श्रद्धालु देवघर पहुंच रहे हैं, उन्हें भी मंदिर के पास जाने से रोका जा रहा है. बाहरी वाहनों के मंदिर के आसपास के क्षेत्र में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है. बाबा मंदिर को जोड़ने वाले सभी प्रमुख मार्गो पर चेकपोस्ट बनाए गए हैं. बिहार व अन्य राज्यों से आने वाली गाड़ियों को बिना वाहन पास शहर में प्रवेश नहीं मिलेगा.

श्रद्धालुओं की आस्था का ध्यान रखते हुए इसबार जिला प्रशासन श्रावणी मेले में बैधनाथधाम और बासुकीनाथ में ई- पूजा की तैयारी में जुटी हुई है. पर्यटन विभाग ने इससे संबंधित प्रस्ताव तैयार किया है. ई- पूजा प्रस्ताव झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भेज दिया गया है.

देवघर की उपायुक्त नैंसी सहाय ने बताया कि ई- पूजा प्रारंभ होने से श्रद्धालु सावन महीने में ऑनलाइन पूजा कर सकेंगे. इसके साथ ही पर्यटन विभाग द्वारा बाबा बैधनाथधाम पोर्टल तैयार किया जाएगा. पोर्टल पर बाबा मंदिर से विशेष पूजा का लाइव प्रसारण किया जाएगा. पोर्टल पर बाबा की विशेष पूजा के लिए बुकिंग की सुविधा देने पर विचार किया जा रहा है. श्रद्धालु पोर्टल के जरिये बाबा बैधनाथ का प्रसाद भी खरीद सकेंगे. साथ ही ऑनलाइन बाबा बैधनाथ मंदिर को दान भी दे सकेंगे.