कोरोना काल में तेज प्रताप को कमरा देना होटल मालिक को पड़ा महंगा, प्राथमिकी दर्ज

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अपने पिता से मिलने के लिए गुरुवार को रांची गए थे. इस दौरान तेज प्रताप यादव ने रांची के चुटिया थाना क्षेत्र स्थित होटल कैपिटल रेजिडेंसी में कमरा नंबर 507 में रुके थे. जिसके बाद होटल के मालिक और मैनेजर दुष्यंत कुमार पर प्राथमिकी दर्ज हुई है. रांची के अंचल अधिकारी के बयान पर चुटिया थाना में धारा 188/ 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस को सूचना मिली कि तेज प्रताप होटल में रुके हुए हैं. पुलिस की टीम अंचलाधिकारी के साथ होटल पहुंची. पुलिस ने जबरन होटल खुलवाया और कमरा नंबर 507 में जाकर देखा तो तेजप्रताप मौजूद थे. पुलिस के अनुसार सरकार का सख्त आदेश है कि कोई होटल नहीं खुलेगा इसके बाद भी कैपिटल रेजिडेंसी में तेज प्रताप को ठहराया गया.



रिम्स निदेशक बंगला में इलाजरत लालू प्रसाद से उनके बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को मुलाकात की. रिम्स आने के बाद उन्हें सीधे माईक्रोबायोलॉजी विभाग (लेबोरेटरी) में ले जाया गया। कोविड जांच के लिए उन्होंने सैंपल दिया. दोपहर 1:10 बजे रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वह लालू प्रसाद से मिलने पहुंचे. घंटे भर तक बातचीत के बाद दोपहर 3 बजे निकले. महुआ सीट से चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि पूरे बिहार से चुनाव लड़ेंगे और जीतेंगे भी.

झारखंड बीजेपी के प्रवक्ता प्रफुल्ल शाहदेव ने आरोप लगाया था कि तेज प्रताप 60 गाड़ियों के काफिले के साथ रांची आए. उनके साथ में करीब 300 आदमी थी. ऐसे में हेमंत सोरेन की सरकार ने कैसे झारखंड में बिना पास के आने की इजाजत दी. हेमंत सोरेन की सरकार और रांची पुलिस को कार्रवाई करनी चाहिए.