चार्टर प्लेन से झारखंड लाए जाएंगे मजदूर, सीएम ने गृह मंत्रालय को लिखा पत्र

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : अंडमान निकोबार समेत उत्तर पूर्व के राज्यों में फंसे झारखंडवासियों को चार्टर प्लेन से प्रदेश लाया जाएगा. इसको लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केन्द्र सरकार से परमिशन मांगा है. मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह को एक चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने अंडमान निकोबार, लद्दाख समेत उत्तर पूर्व के राज्यों में फंसे श्रमिक और अन्य लोगों को चार्टर प्लेन से लाने की अनुमति देने की मांग की है.

दूसरे प्रदेशों में फंसे झारखंडवासियों के बारे में जानकारी देते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने बताया कि लद्दाख में करीब 200 लोग , उत्तर पूर्वी राज्यों में करीब 450 श्रमिक अब भी फंसे हुए हैं, जिसे बस या ट्रेन से लाना संभव नहीं है. लागातार वापसी के बावजूद अभी भी झारखंड के कई लोग दूसरे राज्यों में फंसे है. जिन्हे लाना हमारी जिम्मेवारी है. 12 मई को गृह मंत्रालय से राज्य सरकार ने अनुरोध किया था, लेकिन अभीतक अनुमति नहीं मिली है.

दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिकों की संख्या की जानकारी देते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि अबतक करीब डेढ़ लाख श्रमिक, छात्र और अन्य लोग प्रदेश आ चुके है. और यह आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. लेकिन उत्तर पूर्व राज्य और अंडमान निकोबार में फंसे लोगों को बस या ट्रेन से नहीं लाया जा सकता है. ऐसे में उन्हे लाने के लिए सिर्फ और सिर्फ चार्टर प्लेन ही विकल्प है. जिसकी अनुमति मिलते ही राज्य सरकार उन्हे घर लाने का प्रयास करेगी.