लाइव सिटीज: कोरोना के कहर का असर भले ही झारखण्ड में अभी दिख नहीं रहा है. पर इसका असर चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो के मुलाकातियों पर इसका असर दिखने लगा है. सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के मद्देनजर लालू से शनिवार को मुलाकत पर रोक लगा दी गयी है. इस बावत रिम्स निदेशक ने कहा की कोरोना से बचाव के लिए एहतियात बरतने के लिए सभी को सरकार ने एडवाइजरी जारी की है.

इसलिए इसपर अलग से दिशा निर्देश की जरूरत नहीं है. वहीं रिम्स निदेशक ने कहा कि अभी रिम्स के कोरोना आइसोलेशन वार्ड में 5 संदिग्ध भर्ती हैं. जिनमे कांग्रेस की विधायिका दीपिका पांडेय भी शुक्रवार को अमेरिका से आने के बाद अपने को क्वारेण्टाइन करते हुए रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में एडमिट हैं. जिनके रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

रिम्स निदेशक के अनुसार दीपिका पांडेय ने जिस तरह से अपने को क्वारेण्टाइन किया है वो काबिले तारीफ है. क्योंकि हमने कल ही देखा की किस तरह गायिका कनिका कपूर के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा संसद से लेकर राष्ट्रपति भवन पर मंडरा रहा है.

वहीं कल के प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के आह्वान पर कहा कि ये कोरोना को हराने के लिए अच्छा कदम है. अपने नेता लालू प्रसाद से मुलाकात करने पहुंचे बिहार के खगड़िया विधायक चंदन कुमार के साथ- साथ अन्य मुलाकातियों को रिम्स में स्थित जेल प्रशासन के सुरक्षाकर्मियों ने बैरंग वापस लौटा दिया.