रांची: सजायाफ्ता लालू प्रसाद द्वारा जेल मैन्युअल का उल्लंघन करने को लेकर जनहित याचिका दायर

रांची: झारखंड उच्च न्यायालय में जेल मैनुअल के उल्लंघन के आरोप में लोकहित याचिका दाखिल किया गया. याचिका दाखिल मनीष कुमार ने किया है. याचिका में कहा गया कि लालू प्रसाद यादव लगातार जेल मैनुअल का उल्लंघन कर रहे हैं और सैकड़ों लोगों से रोज मिलकर न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर रहे हैं.

यह ज्ञात है कि पूर्व में भी लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में जेल जाने पर अपने राजनैतिक हनक से शासन का दुरुपयोग कर बीएमपी गेस्ट हाउस में गिरफ्तार होने के बाद रह रहे थे. जिसे सर्वोच्च न्यायालय ने अविलंब SLP CRL 2296/1998 Order Dated 27.11.1998 के द्वारा न्यायिक आदेश के तहत बेऊर जेल पहुंचाया था. जिसकी चर्चा आज दाखिल याचिका में भी की गई है.



वहीं, इस मामले पर प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी बीजेपी लगातार अपना विरोध प्रकट करते रही है. आज इसी मामले पर रांची से बीजेपी सांसद संजय सेठ ने कहा कि  मुजरिम जो सजायाफ्ता है उसे इस सरकार में पांच सितारा की सुविधा दी जा रही है. झारखंड अलग राज्य को लेकर लालू यादव ने बोला था कि हमारी लाश पर झारखंड बनाया गया है.

आज उन्हें पांच सितारा सुविधा दी जा रही है. उनके बेटे तेजप्रताप 50 60 गाड़ियों के काफिले से आते हैं. उन्हें होटल मुहैया कराई जाती है. लॉकडाउन का उल्लंघन कराया जाता है. सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाई जाती है. आम लोगों को गालियां देते हैं. मारपीट करते हैं, खुलेआम जो संस्कार 90 के दशक में बिहार में था, वह संस्कार लोग भूले नहीं हैं. बिहार की जनता इनको इस बार विधानसभा चुनाव में धूल चटाने का काम करेगी.