…और मायूस हो गये समर्थक,रो पड़ी कृष्णा

खगड़िया : चचरे भाई की हत्या के मामलें में पूर्व विधायक रणवीर यादव को जैसे ही मुंगेर के अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम पीसी चौधरी ने शनिवार को दोषी करार दिया. वैसे ही पूर्व विधायक संग मुंगेर गई उनकी पत्नी विधायक पूनम देवी यादव व पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष कृष्णा कुमारी यादव सहित उनके समर्थक मायूस हो गये.

कृष्णा की आंखों से तो आंसू छलक गये. गौरबतलब है कि लगभग एक दर्जन समर्थकों के साथ पूर्व विधायक मुंगेर पहुंचे थें. अपर सत्र न्यायाधीश ने सजा की बिन्दु पर सुनवाई के लिए तीन जनवरी की तारीख तय की है. अपने ही चचरे भाई सुनील कुमार यादव की हत्या के मामले में पूर्व विधायक नौ साल जेल के अंदर काट चूंके है. सुनील के बडे भाई सह जदयू के राज्य परिषद सदस्य अरूण कुमार यादव कि गर मानें तो सुनील की लोकप्रियता से घबरा कर बकरी के बच्चे का बहाना बना उनके छोटे भाई की हत्या कर दी गई थीं.

khag4

वहीं पूर्व विधायक की मानें तो एक राजनीतिक साजिश के तहत उन्हें फंसाया गया है. वर्ना इस हत्या के सिर्फ ग्यारह महिनें बाद खगडिया की दो लाख जनता उन्हें विधायक नहीं चुनती. बहरहाल मामले के लगभग 27 वर्षो बाद अदालत का फैसला आया है और अब दोनों पक्षों सहित जिले के लोगों को तीन जनवरी का इंतजार है. वैसे पूर्व विधायक इस फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देने की बात कह चुके हैं.

khag3

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*