उफ्फ ये शराब…नहीं पस्त हो रहे तस्करों के हौसले, फिर जखीरा बरामद

sharab

खगड़िया : शराबबंदी के बाद यूं तो जिले में शराब की बरामदगी कोई नया मामला नहीं है. आये दिन शराब की बोतलों के साथ तस्करों की गिरफ्तारी भी होती रही है. मौके पर वाहनों को भी जब्त और शराब भंडारण वाले मकानों को भी सील किया जाता रहा है. साथ ही ऐसे वाहनों व मकानों को नीलाम करने की प्रक्रिया भी चलती रही है. कई तस्करों को जिला प्रशासन के द्वारा जिलाबदर तक कर दिया गया है. बाबजूद इसके शराब तस्करों के हौसले पस्त होते दिखाई नहीं दे रहे हैं.

सच्चाई यह भी है कि तस्करों ने शराब के भंडारण के लिए कब्रिस्तान से लेकर शिक्षा के मंदिरों तक को भी नहीं छोडा है. बीते माह कब्रिस्तान व कई विद्यालय परिसर से शराब की बरामदगी इसका प्रमाण रहा है. शनिवार को भी मानसी थाना की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर थानाध्यक्ष राघवेन्द्र कुमार सिंह के नेतृत्व में की गई कार्रवाई में चकहुसैनी गांव से विदेशी शराब का जखीरा बरामद किया है. पुलिस द्वारा बरामद की गई शराब में रॉयल स्टेग ब्रांड की 428 बोतलें शामिल है.

दूसरी तरफ रविवार को नगर थाना की पुलिस ने भी गुप्त सूचना के आधार पर शहर के बलुआही से रॉयल स्टेग ब्रांड के 375 एमएल की 17 बोतलें एवं ऑफिसर चॉइस ब्रांड के 180 एमएल की 184 पैकेट बरामद किया है. मौके से पुलिस नगर थाना क्षेत्र के मथूरापुर निवासी रामू पासवान के पुत्र प्रिंस कुमार एवं हाजीपुर निवासी मोहम्मद सद्दीमुद्दीन के पुत्र मोहम्मद वसीम को भी गिरफ्तार किया है.

छापेमारी दल में नगर थानाध्यक्ष मोहम्मद इस्लाम सहित एसआई सफदर अली, मुकेश कुमार, अरविन्द सहनी व टाइगर मोबाइल के सिपाही सहित ट्रेफिक पुलिस जवान प्रभुनारायण सिंह शामिल थे. बहरहाल जिले में नित्य होती शराब की बरामदगी के बीच एक बडा सवाल शराबबंदी के वर्षों बाद भी आज अपनी जगह कायम है कि आखिर कब रूकेगी जिले में शराब की तस्करी व कब मुक्त होगा जिला अवैध शराब की खेप से ?

चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

खुशियां लेकर आया दुर्गा पूजा का त्‍योहार, 9 लाख में 1.5 व 2.5 BHK का फ्लैट पटना में

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*