अच्छी पहल : खगड़िया में दिख गया है उम्मीदों का ‘चांद’

खगड़िया: वैसे तो आज के दौर में किसी खास संगठन द्वारा उठाये गये मुद्दे या चलाये जा रहे आंदोलन का समर्थन या विरोध देश-प्रदेश के वर्तमान राजनीतिक गठजोड़ पर ही स्थानीय स्तर के नेताओं द्वारा अमूमन की जाती रही है. स्थिति तो कभी-कभी ऐसी भी दिखीं है कि जब विरोधी गुट के जनसरोकार के मुद्दे पर भी समर्थन के दो शब्द कहने से भी परहेज किया जाता रहा है. लेकिन जिले में इस परंपरा की टूटने की एक आहट सुनाई दी है, जो निश्चय ही एक सुखद संदेश है.

दरअसल शुक्रवार को जिले के मानसी प्रखंड स्थित जनता उच्च विद्यालय में मैट्रिक के फार्म भरने में स्कूल प्रशासन द्वारा छात्र-छात्राओं से निर्धारित राशि से अधिक वसूली के खिलाफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं के नेतृत्व में छात्रों द्वारा आवाज बुलंद की जा रही थी.

उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भारतीय जनता पार्टी का आधिकारिक युवा शाखा है और प्रदर्शन की अगुवाई इसी संगठन के द्वारा की जा रही थी. बावजूद इसके राष्ट्रीय जनता दल से नाता रखने वाले मानसी प्रखंड के प्रमुख बलवीर चांद उर्फ चांद यादव मामले कि जानकारी मिलते ही जनता हाई पहुंचे और छात्रों की बात सुनने के बाद इस तरह की वसूली बर्दाश्त नहीं किये जाने की बातें कहीं.

इतना ही नहीं उन्होंने मामले पर पहल करते हुए स्कूल के प्रभारी प्रधानाध्यपक से बात की और अपनी उपस्थित में छात्रों से अनाधिकृत रूप से वसूली गई 100-100 रूपये वापस कराये.दूसरी तरफ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेताओं ने भी राजद नेता की इस पहल की प्रशंसा करते हुए उनके प्रति आभार व्यक्त किया.

बताते चले कि राजनीतिक रूप से दोनों ही संगठनों में फिलहाल 36 का आंकड़ा है. तमाम राजनीतिक विरोध के बाबजूद स्थानीय मुद्दे पर राजनीति से परे रहकर एक-दूसरे को सहयोग व समर्थन देती यह तस्वीर जिलेवासियों को उम्मीद को एक नई उम्मीद दिखा गया है. साथ ही यह जिले के अन्य स्थानीय नेताओं को भी प्रेरणा की लौ दिखा गया है.