खगड़िया : पूर्व मंत्री पुत्र पर 20 लाख रूपये ठगी का आरोप, मामला दर्ज

खगड़िया (विक्रम उपाध्याय): पूर्व मंत्री विद्यासागर निषाद के पुत्र पर एक व्यवसायी ने लाखों रूपये ठग लेने का सनसनीखेज आरोप लगाया है. वहीं व्यवसायी द्वारा जिले के गोगरी थाना में पूर्व मंत्री के पुत्र के खिलाफ ठगी का मामला भी दर्ज करा दिया गया है. गोगरी जमालपुर के आभूषण व्यवसायी सज्जन कुमार ने बिहार सरकार के पूर्व मंत्री विद्यासागर निषाद के पुत्र लखन निषाद पर दो साल पूर्व 20 लाख रूपये ठग लेने का आरोप लगाते हुए बताया है कि पूर्व मंत्री के पुत्र ने उनसे पेट्रोल पंप एवं गैस एजेन्सी का लाइसेन्स दिलाने के नाम पर रूपये लिए थे.

साथ ही उन्होंने बताया कि एक हजार रूपये के स्टाम्प पेपर पर पूर्व मंत्री के पुत्र ने राशि प्राप्ति का कागजात भी बनाया था. जिसके बाद पेट्रोल पंप और गैस एजेन्सी संबंधित आने वाले हर वेकेंसी का वो आवेदन करवाता रहा.

बिहार सरकार के पूर्व मंत्री विद्यासागर निषाद के पुत्र लखन निषाद

लेकिन दो वर्ष के दौरान उन्हें न तो पेट्रोल पंप का लाइसेन्स मिला और न ही गैस एजेन्सी का. साथ ही उन्होंने बताया कि इस दौरान उन्हें यदि कुछ मिला था तो वो था पूर्व मंत्री पुत्र का आश्वासन और आश्वासन पर आश्वासन. इसके साथ ही वर्षों बीत गए. आखिरकार थक-हार कर व्यवसायी ने पिछले दिनों स्थानीय गोगरी थाना में पूर्व मंत्री पुत्र के खिलाफ मामला दर्ज कराया. इस संदर्भ में गोगरी थानाध्यक्ष अनिल कुमार यादवेन्दु ने बताया है कि मामला दर्ज कर उसकी छानबीन की जा रही है.

देखें #VIDEO : तेजस्वी यादव तो सुशील कुमार मोदी के पीछे ही पड़ गए है. सदन के बाहर बोलते-बोलते बहुत ही कड़वा बोल गए हैं तेजस्वी…


दूसरी तरफ आभूषण व्यवसायी सज्जन कुमार ने बताया है कि उन्होंने अपने घर को बैंक में गिरवी रखकर 17 लाख रुपये बैंक से कर्ज लिया था जिसका बैंक गारंटर भी पूर्व मंत्री का पुत्र ही बना था. बैंक से कर्ज के रूप में मिले 17 लाख रूपये में उन्होंने 3 लाख की राशि और मिलाकर कुल 20 लाख रुपये पूर्व मंत्री पुत्र को दिया था. लेकिन रूपये देने के दो साल बाद जब उन्हें न तो पेट्रोल पंप का लाइसेन्स मिला और न ही गैस एजेंसी तो उनसे रुपये वापस करने की बात कही गई. लेकिन रूपये भी नहीं मिलने के बाद आखिर में वह थाना में ठगी का मामला दर्ज कराने को मजबूर हो गये. बताते चलें कि लखन निषाद के पिता पूर्व पशुपालन मंत्री विद्यासागर निषाद चारा घोटाला में आरोपित हैं.