‘देशभक्ति के नाम पर मार-काट कर रहे राजनीति के दिग्गज लोग’

खगड़िया : भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को अंचल कार्यालय पर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के बाद वहीं एक सभा का भी आयोजन हुआ. मौके पर अपने संबोधन में पार्टी के जिला संयोजक अरुण कुमार दास ने कहा कि आज राजनीति के शिखर पर बैठे लोग देशभक्ति के नाम पर मार-काट शुरू कर दिया है.

उन्होंने कहा कि पूरे देश में विश्वास की हत्या, असहमति रखने वाले राजनीतिक कार्यकर्ता की हत्या, किसानों की हत्या, माओवादी के नाम पर महादलितों की हत्या की जा रही है. इसका ताजा उदाहरण छमसिया की घटना हैं. जिस तरह से पुलिस व दबंगों मिलकर कांबिंग आपरेशन चलाती हैं, गरीबों के जेवर, नगदी लूट ली जाती है और दूसरे दिन पूरी बस्ती को आग के हवाले कर दिया जाता है. इससे साफ जाहिर होता है कि बहुत ही सोच व समझ के साथ गरीबों के साथ अन्याय किया जा रहा है.

वहीं अभय कुमार वर्मा ने कहा कि मंगलोर में किसानों की हत्या, पूरे देश में आत्महत्या का दौर बताया है कि देश कितना बुरी स्थिति में है. मौके पर खेत-ग्रामीण मजदूरों की चर्चा करते हुए सुभाष सिंह ने कहा कि नोटबंदी का वर्षगांठ मनाने की तैयारी कर केन्द्र की मोदी सरकार अपनी संवेदनहीनता का परिचय दे रहा है. नोटबंदी से पूरे देश में मजदूरों को काम मिलना मुश्किल हो गया है और जीएसटी से महंगाई बढ़ी है. बावजूद इसके नोटबंदी पर जश्न मनाना किसानों-मजदूरों व गरीबों को चिढ़ाने के समान है.

मौके परिवेश सदा, चन्द्र किशोर वर्मा, वालमिकि कुमार, कुसुमासब सदा, रामचन्द्र सदा, राजेश सदा, सुशीला देवी, लोनिया देवी, चम्पा देवी, लीला देवी, सुमित्रा देवी, वरन सदा, अनिल सदा, जोगिन्दर साह, बुचिया देवी आदि उपस्थित थे. सभा के उपरांत सात सूत्री मांगों के संबंध में प्रतिनिधियों द्वारा एक स्मार पत्र अंचलाधिकारी की अनुपस्थिति में प्रखंड विकास पदाधिकारी को सौंपा गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*