नगर पार्षदों ने डीएम से मिलकर लाभार्थियों के परेशानियों से कराया अवगत

खगड़िया : नगर सभापति सीता कुमारी के नेतृत्व में नगर पार्षदों का एक शिष्टमंडल बुधवार को जिला पदाधिकारी अनिरूद्ध कुमार से मिलकर प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के गैरमजरूआ खास जमीन पर बसे लाभार्थियों को योजना का लाभ नहीं मिलने के तकनीकी पहलुओं को रखा गया. उन्हें बताया गया कि नगर परिषद क्षेत्रान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2015-2016 में 500 लाभुकों को प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना की स्वीकृति प्राप्त हुई है. इसमें से अभी तक मात्र 150 लाभुकों ही उक्त योजना का लाभ मिल पाया है.

लाभ नहीं मिलने के पीछे मुख्य कारण खगड़िया नगर परिषद क्षेत्रान्तर्गत पड़ने वाले अधिकांश वार्डों में लाभुकों के पास गैरमजरूआ खास किस्म की भूमि का होना बताया जा रहा है. इसकी वजह से अंचल द्वारा वर्ष 2017-2018 से एल.पी.सी. निर्गत नहीं किया जा रहा है और न ही अद्यतन मालगुजारी रसीद ही काटी जा रही है. जबकि, प्रधानमंत्री आवास योजन में एल.पी.सी. का होना आवश्यक है. ऐसे में लाभुकों को योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है.

मौके पर जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि जिन लाभुकों का आवास योजना में चयन हुआ है उक्त जमीन पर लाभुक वर्षों से घर बनाकर रह रहे हैं. उन्हें यह जमीन किसी न किसी राज्य या जमीनदार से बासीगत पर्चा एवं हुक्मनामा प्राप्त है एवं वर्ष 2017 से पूर्व तक अंचल द्वारा मालगुजारी रसीद भी उन्हें निर्गत होता रहा है. ऐसे में डीएम से अनुरोध किया गया कि शहर के गरीबों को भी आवास नसीब हो और सबके लिए आवस योजना का लाभ उन्हें भी मिल सके, इसके लिए मामले पर सहानुभूति पूर्वक विचार किया जाये.

मौके पर शहर के वार्ड नंबर 05, 17 और 24 में बिजली विभाग के लोहे के जर्जर पोल के बारे में भी जिला पदाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराया गया और साथ ही संभावित दुर्घटनाओं के संबंध में भी जानकारी दी गई. वहीं बताया गया कि स्थानीय पार्षद के द्वारा कई बार लिखित एवं मौखिक रूप से जानकारी विद्युत विभाग के कार्यपालक अभियंता, सहायक विद्युत अभियंता एवं कनीय अभियंता को दिया गया. लेकिन, कोई करवाई नहीं किया हुई. शिष्टमंडल के सदस्यों के द्वारा मीडिया को बताया गया कि जिला पदाधिकारी के द्वारा सभी मामले को सहानुभूति पूर्वक सुना गया है और इस पर विचार कर इसका निदान निकाले जाने का आश्वासन दिया गया है. शिष्टमंडल में पूर्व नगर सभापति मनोहर कुमार यादव, नगर उपसभापति सुनील कुमार पटेल, नगर पार्षद चंद्रशेखर कुमार, रणवीर कुमार एवं नगर कार्यपालक पदाधिकारी बिनोद कुमार शामिल थे.