प्रकृति का तांडव : वज्रपात से किसान की मौत 

खगड़िया : जिले में मानसून ने जैसे ही दस्तक दी कि किसानों के चेहरे पर मुस्कान फैल गई. ऐसा हर बार होता है. आखिर पूरे साल की खुशहाली खेती पर ही तो निभर करती है और खेती वर्षा पर. जाहिर इसका लोगों को इंतजार रहता है. लेकिन बारिश से तबाही की खबरें भी मिल रही हैं. बाढ़ की खबरें तो मिलती ही हैं.
पहले वज्रपात से मौत की इतनी खबरें नहीं सुनने को मिलती थीं जितनी अब मिल रही हैं. जहां भी खूब बारिश हो रही है वज्रपात से मरने वालों की खबरें भी खूब सामने आ रही हैं. खगड़िया में भी बारिश के बहाने वज्रपात एक किसान के लिए यमदूत बनकर आ धमकी. प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के बेलदौर थाना क्षेत्र के दिघौन पंचायत के वार्ड नंबर 6 के निवासी गणेशी सदा का पुत्र अभिराम सदा मलिया अपने खेत में धान का बिचड़ा उखाड़ रहा था. इसी दौरान अचानक बारिश आ गई और बहुत तेज ठनका ठनकने लगा.
अभिराम अभी बारिश से बचने के लिए वहां से निकलने की सोच ही रहा था कि तभी वहां आकाशीय बिजली गिरी और वह उसकी चपेट में आ गया. घटना की जानकारी मिलते ही आस-पास के लोग घटना स्थल की तरफ दौड़े. लेकिन तबतक अभिराम दम तोड़ चुका था. घटना के बाद से ही मृतक के परिवार के लोगों के आंसू थम नहीं रहे हैं. वहीं गांव में भी मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है. उल्लेखनीय है कि इस साल जिले में वज्रपात से कई व्यक्तियों की मौत हो चुकी है और यह सिलसिला जारी है. लेकिन प्रकृति के इस ताडंव पर किसी का कोई वश नहीं है.