सीएम के दौरे के पूर्व लाभुक किसानों को राहत मिलने का सिलसिला जारी

खगड़िया : इन्हीं व्यवस्थाओं के बीच एक वो दौर भी था जब जिले के बाढ पीड़ित फसल क्षति अनुदान की राशि के लिए गुहार लगाते-लगाते थक गये थे. इस बीच जिले में मुख्यमंत्री की संभावित कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक हलचल तेज हुई. इसी क्रम में बीते दिनों जिलाधिकारी जय सिंह द्वारा बाढ पीड़ितों को दी गई जी.आर. की राशि एवं क्षति वितरण के समीक्षा के दौरान पाया कि फसल क्षति से संबंधित राशि की निकासी प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा किया जा चुका है, लेकिन कुछ तकनीकी कारणों के कारण इसका वितरण नहीं हो पाया है.

मामले पर जिलाधिकारी ने सख्त नराजगी प्रकट करते हुए एक सप्ताह के अंदर फसल क्षति अनुदान की राशि वितरण का निर्देश दिया और समय सीमा समाप्त होने के साथ इसका सार्थक परिणाम भी सामने आने लगा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार जिलाधिकारी के सख्त आदेश के बाद वर्ष 2017 के बाढ प्रभावित लाभुकों को फसल क्षति मुआवजा वितरण की गति बढी और 29 दिसम्बर तक जिले के विभिन्न प्रखंडों के 9 हजार 8 सौ 55 लाभुकों के बीच 6 करोड़ 30 लाख 08 हजार 19 रूपये वितरित किए जा चुके हैं.

खगड़िया : रसोईया ने लगाया प्रधानाध्यापक पर बलात्कार का आरोप, मामला दर्ज

यदि प्रखंडवार वितरण की स्थिति को देखा जाये तो शनिवार तक अलौली में 39 लाख 57 हजार 4 सौ 63 रूपये,सदर प्रखंड में 32 लाख 41 हजार 1 सौ 37 रूपये, मानसी में 80 लाख 61 हजार 15 रूपये, चौथम में 1 करोड़ 35 लाख 15 हजार 3 सौ रूपये, बेलदौर में 2 करोड़ 49 लाख 99 हजार 8 सौ 12 रूपये एवं गोगरी प्रखंड में 92 लाख 33 हजार 2 सौ 92 रूपये लाभुकों के बीच वितरित किए गये हैं. इस संदर्भ में आपदा शाखा द्वारा बताया गया कि जिले में प्रखंडवार प्राप्त आवेदनों की कुल संख्या 24 हजार 9 सौ 84 है. जिसमें सबसे अधिक 11 हजार 8 सौ 54 आवेदन बेलदौर से प्राप्त हुआ है.

सदर प्रखंड से सबसे कम 7 सौ आवेदन प्राप्त होने की बात कही गई. वहीं उन्होंने बताया कि उपावंटित कुल राशि 29 करोड़ 6 लाख है और फसल क्षति मुआवजा वर्ष 2017 में आई बाढ एवं उससे प्रभावित फसलों के परिपेक्षय में वितरित किया जा रहा है. बहरहाल मुख्यमंत्री के कार्यक्रम व जिलाधिकारी के निर्देश के बीच लाभुकों को राहत मिल रही है.