लघु खनिज व्यवसाय संघ व स्वराज अभियान ने बालू विक्रय नियमावली का किया विरोध

खगड़िया: लघु खनिज एवं भवन निर्माण व्यवसाय संघ और स्वराज अभियान के द्वारा शनिवार को एक संयुक्त प्रेस वार्ता आयोजित किया गया. मौके पर लघु खनिज एवं भवन निर्माण व्यवसाय संघ के जिला संयोजक अरविंद कुमार ने कहा कि बालू के विक्रय को लेकर बनाई गई नई नियमावली अन्याय पूर्ण है और संघ द्वारा इसका विरोध जारी है.

उन्होंने बताया कि इस संबंध में उच्च न्यायालय पटना में संघ द्वारा रिट दायर किया गया है. साथ ही संघ के अतिरिक्त राज्य भर से कई याचिकाएं इसके विरोध में दायर की गई है. जो दर्शाता है कि इस काले कानून से पूरे राज्य भर के व्यवसायी एवं उपभोक्ता परेशान हैं. जिसके कारण सभी जगह से आवाज उठ रही है. वहीं संघ के सह संयोजक राकेश कुमार ने उच्च न्यायालय के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि न्यायालय ने इस काले कानून के विरुद्ध दायर याचिकाओं का त्वरित संज्ञान लेते हुए इस पर रोक लगाने का निर्देश दिया है.

खगड़िया: छोटे सिक्के की बड़ी अफवाह की वजह से रोज हो रही है किचकिच

आगे उन्होंने कहा कि स्वराज अभियान का आंदोलन को बल प्रदान करने में पूर्ण सहयोग व समर्थन रहा है. मौके पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए स्वराज अभियान के जिला प्रवक्ता विप्लव रणधीर ने कहा कि यह कानून सिर्फ व्यवसायी को ही क्षति नहीं पहुंचाएगा बल्कि इससे आम जनता भी प्रभावित होगें. साथ ही उन्होंने कहा कि स्वराज अभियान का संकल्प है कि वह आम जनता के दुख-दर्द में हमेशा सहभागी है और रहेगा.

उन्होंने कहा इस अंग्रेजी कानून पर उच्च न्यायालय द्वारा रोक लगाए जाने के बाद भी सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही है. उल्टे मुख्य सचिव के. के. पाठक द्वारा भ्रामक आदेशों को जारी करवाया जा रहा है. वहीं उन्होंने कहा कि जिला अधिकारी जय सिंह नौकरी देने की तर्ज पर 3 दिन का वक्त देकर लाइसेंस देने का फॉर्म निकालते हैं और मात्र 31 लोगों का आवेदन लेकर प्रक्रिया समाप्ति की घोषणा कर दिया हैं. जिसका खामियाजा जिला के तीन से चार सौ व्यवसायी उठा रहे हैं.

साथ ही उन्होंने कहा कि स्वराज अभियान इस पूरे घटना क्रम की तीव्र भर्त्सना करता है एवं इस कानून के विरोध में अपना आंदोलन जारी रखते हुए इसे तेज करने का संकल्प लेता है. स्वराज अभियान व्यापारियों को व्यापार करने की स्वतंत्रता देने की मांग करता है.

मौके पर लघु खनिज एवं भवन निर्माण व्यवसाय संघ एवं स्वराज अभियान के संयुक्त तत्वाधान में आने वाले दिनों में पूरे जिले में चरणबद्ध तरीके से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा तुगलकी फरमान के विरोध में प्रत्येक प्रखंड एवं जिला मुख्यालय में आंदोलन, पुतला दहन, बाजार बंद आदि कराए जाने की भी बातें कही गई. इस अवसर पर यशवंत कुमार सिंह, मनोज कुमार, गोपाल बिहारी, पवन चौरसिया, निरंजन चौरसिया आदि मौजूद थे.