बिहार को स्पेशल स्टेटस मिलने के JAP की मुहिम के तहत छात्र नेताओं ने चलाया हस्ताक्षर अभियान

स्पेशल स्टेटस, bihar, jap, हस्ताक्षर अभियान, hindi news, hindi samachar, khagaria news, news daily

खगड़िया : सांसद पप्पू यादव के आह्वान पर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने को लेकर चलाये जा रहे हस्ताक्षर अभियान के तीसरे दिन बुधवार को छात्र युवा शक्ति एवं जन अधिकार छात्र परिषद के कार्यकर्ताओ के द्वारा स्थानीय कोशी महाविद्यालय में कार्यक्रम आयोजित किया गया. जहां बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं ने अभियान में शामिल होकर मुहिम को गति प्रदान किया. कोशी महाविद्यालय में आयोजित हस्ताक्षर अभियान कार्यक्रम की अध्यक्षता छात्र युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष रोशन कुमार ने किया.

वहीं उन्होंने कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए हस्ताक्षर अभियान को जिले के सभी कॉलेज व स्कूलों में जोर-शोर के साथ चलाया जा रहा है. ताकि बिहार की शिक्षा व्यवस्था व स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारा जा सके. मौके पर छात्र परिषद के अध्यक्ष सुमित कुमार, छात्र युवा शक्ति के जिला उपाध्यक्ष प्रिंस कुमार एवं युवा शक्ति के छात्र नेता सुशांत सिंह चंदेल ने संयुक्त रुप से कहा कि बिहार को बेरोजगारी व भुखमरी से बचाने के लिए इसे विशेष राज्य का दर्जा देना होगा. इसको लेकर सांसद पप्पू यादव के द्वारा पूरे बिहार में हस्ताक्षर अभियान का आयोजन किया जा रहा है. जिसे युवा, मजदूर, किसान व छात्र सभी का समर्थन मिल रहा है.

यह भी पढ़ें:

खगड़िया: बलिदान दिवस पखवाड़ा के तहत BJP चला रही जन-जागरण अभियान

वहीं हस्ताक्षर अभियान में शामिल हुए छात्र-युवाओं का कहना था कि बिहार देश का दूसरा सबसे बड़ी आबादी वाला अत्यंत गरीब राज्य है.यहां की अधिकांश आबादी समुचित सिंचाई के अभाव में मानसून, बाढ़ और सूखे के कारण निम्न उत्पादन वाली खेती पर निर्भर है. साथ ही इस राज्य में उद्योग और पूंजी निवेश की व्यवस्था नहीं है. जिसके कारण यहां बेरोजगारी चरम पर है. इसलिए बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना ही चाहिए.

मौके पर छात्र नेता अमित कुमार, अंकित कुमार, राजा कुमार, सलाम कुमार, राहुल कुमार, नंदन कुमार, सोनू कुमार, प्रिया, राज कुमार, हिमांशु कुमार, शेखर कुमार, संजीत कुमार, रवि कुमार,रोहित कुमार, राहुल कुमार आदि उपस्थित थे.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*